Harda News :हरदा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। हंडिया शाखा मैन कैनाल गुरुवार की रात हेड से छोड़े गए पानी का बहाव सहन नहीं कर सकी। इसके कारण नहर क्षतिग्रस्त हो गई। इससे कुछ स्थानों पर पानी व्यर्थ बह गया। वहीं नहरों की लाइनिंग की गुणवत्ता पर सवाल उठने लगे हैं। बताया जा रहा कि गुरुवार की रात सिवनी मालवा हेड क्षेत्र प्वाइंट 3008 से 2200 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। बताया जा रहा कि हंडिया शाखा मैन कैनाल की डिमांड 1680 क्यूसेक थी। लेकिन करीब 400 क्यूसेक पानी ज्यादा छोङने के कारण नहर तेज बहाव सहन नहीं कर सकी। इसके कारण कुछ स्थानों पर नहर क्षतिग्रस्त हो गई। हंडिया शाखा के नहरों में कुछ स्थानों पर ओवरफ्लो भी होने की बात सामने आ रही है। जबकि ग्राम पोखरनी में कुछ जगहों पर पानी भराया है। जल संसाधन विभाग के जिम्मेदारों ने बताया कि करीब 90 फीसद पलेवा हो चुका है।

सिवनीमालवा से छोड़ा ज्यादा पानी

जल संसाधन विभाग से जुङे सूत्रों ने बताया कि सिवनी मालवा हैड प्वाइंट से गुरुवार-शुक्रवार की रात को 400 क्यूसेक पानी अधिक छोङ दिया गया। जिससे हंडिया थाना क्षेत्र के दो स्थानों पर नहर क्षतिग्रस्त हो गईं। वहीं पोखरनी में ओवरफ्लो किया गया। यहां पर नहरों में ज्यादा पानी आने पर ओवरफ्लो करने स्क्रेप है। जिससे नाले में पानी छोड़ा जाता है। लेकिन किसानों द्वारा कब्जा करने के कारण परेशानी हो रही है। बता दें कि जिले में चार नवंबर से नहरों में पानी छोड़ा गया है।

नहरों की लाइनिंग की गुणवत्ता पर उठ रहे सवाल

किसान नेता दीपचंद नबाद ने बताया कि नहरों की लाइनिंग की गुणवत्ता पर हमेशा सवाल उठते आए हैं। लेकिन जिम्मेदार नहरों के निर्माण एवं लाइनिंग के दौरान सही मानीटरिंग पर ध्यान नहीं देते हैं। निर्माण के दौरान अधिकारी ठेकेदारों पर मेहरबानी करते हैं। बाद में किसानों को भुगतना पङता है। उन्होंने बताया कि हमेशा हंडिया शाखा मैन कैनालम में 2200 क्यूसेक पानी की डिमांड रहती है। लेकिन नहर में इतने पानी के बहाव की क्षमता ही नहीं है।

डिमांड से अधिक छोड़ा पानी

हेड प्वाइंट 3008 से 2200 क्यूसेक पानी हंडिया शाखा मैन कैनाल में छोड़ा गया। जबकि यहां पर 1680 क्यूसेक की डिमांड थी। कुछ स्थानों पर नहर क्षतिग्रस्त हुई हैं। लेकिन इससे किसानों को कोई नुकसान नहीं हुआ है। स्थिति नियंत्रण में है। पोखरनी में नहर की जमीन पर पानी भराया है।

-सोनम बाजपेयी, कार्यपालन यंत्री, जल संसाधन विभाग, टिमरनी संभाग।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close