हरदा। लंबी दूरी की ट्रेनें अब फुल हो गई हैं। दीपावली और छठ पर घर जाने वाले लोगों को ट्रेनों में कंफर्म रिजर्वेशन नहीं मिल रहा है। कई ट्रेनों में दीपावली से एक दिन पहले 3 नवंबर की बुकिंग ही बंद हो गई हैं। ऐसे में अब लोगों को तत्काल कोटे और स्पेशल ट्रेनों का सहारा है। ट्रेनों में अब दो माह की बजाय चार माह पहले रिजर्वेशन की बुकिंग शुरू हो जाती है। ऐसी स्थिति में त्योहारों पर दूर-दराज घर जाने वाले लोगों ने रिजर्वेशन कराने में देरी की तो उन्हें कंफर्म टिकट नहीं मिला है। स्थिति यह है कि अधिकांश ट्रेनों में वेटिंग लिस्ट अब 180 तक पहुंच गई है, लोग सीट कंफर्म होने की उम्मीद में वेटिंग का टिकट भी खरीद रहे हैं। टिकटों की सबसे ज्यादा मारामारी कानपुर, प्रयागराज, बिहार रूट पर चलने वाली ट्रेनों में हैं। इस रूट की 90 फीसद ट्रेनों में दीपावली के आसपास की तारीख पर लंबी वेटिंग है।

वेटिंग टिकट पर नहीं कर सकेंगे सफरः कोरोना संक्रमण शुरू होने के बाद ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों पर भी सख्ती कर दी गई है। अब वेटिंग टिकट पर यात्रा करने की अनुमति नहीं है। टीटीई वेटिंग टिकट वालों को ट्रेन में सवार होने की अनुमति नहीं देते हैं। ऐसे में अब सिर्फ वही यात्री ट्रेन में सवार हो सकेंगे जिनके पास कंफर्म रिजर्वेशन होगा।

लोग बसों में बुक करा रहे टिकटः ट्रेनों में कंफर्म टिकट पाने में विफल रहे यात्री दिल्ली-गाजियाबाद से लखनऊ, कानपुर, वाराणसी और प्रयागराज के लिए एसी बसों में सीट बुक करा रहे हैं। उनका मानना है कि अगर ट्रेन में सीट कंफर्म नहीं हो पाई तो घर पहुंचने का दूसरा विकल्प तो मौजूद रहेगा।

तत्काल ही एकमात्र विकल्पः सीट नहीं होने के कारण पर्व में लोगों को घर आने वाले लोगों को जैसे - तैसे घर पहुंचना पड़ेगा। ऐसे में तत्काल टिकट से राहत मिलने की उम्मीद है। विभिन्ना शहरों में नौकरी, रोजगार या अध्ययन कर रहे लाखों लोग इन दोनों पर्व में शामिल होने के लिए घर पहुंचते हैं। परेशानी से बचने के लिए कई ने पहले से ही ट्रेनों में आरक्षण करा लिया है। जो लोग अंतिम समय में आरक्षण लगाने की आस लगाए बैठे हैं, उनके लिए अब ट्रेनों में आरक्षण मिलना संभव दिखाई नहीं दे रहा है। इन जगहों से आने वाली ट्रेनों में वैसे तो सालों भर जगह कम होता है लेकिन पर्व के मौसम में स्थिति और ही भयावह हो गई है।

कोविड स्पेशल में सफर से पहले जान लें नियम

-ट्रेन के प्रारंभिक स्टेशन से एक दिन पहले उस गाड़ी में तत्काल कोटे की सीटों पर आरक्षण होगा।

-एसी कोचों में सुबह दस बजे और स्लीपर में ग्यारह बजे से तत्काल टिकट बनेगी।

- आरक्षण फार्म में घर का पूरा पता और मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।

-तत्काल फार्म पर अधिकतम चार यात्रियों की ही टिकट बनेगी।

-आनलाइन और काउंटर टिकट कंफर्म ही बनवाएं, क्योंकि वेटिंग का टिकट कोविड स्पेशल में मान्य नहीं है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local