हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

जिले में मानसून की बेरुखी साफ नजर आ रही है। जिले में अपेक्षाकृत कम वर्षा हुई है। इसमें भी जिले के सभी क्षेत्रों में अब तक समान वर्षा नहीं हुई है। इसके कारण खरीफ सीजन की बोवनी में पिछड़ रहे हैं। अब तक जिले में निर्धारित लक्ष्य की 61 प्रतिशत बोवनी हो चुकी है। जबकि इस वर्ष भी खरीफ सीजन में सबसे अधिक रकबे में सोयाबीन की बोवनी की गई है। ऐसे में वर्षा नहीं होने से बोवनी बिगड़ने की आशंका सता रही है। इससे किसान चिंतित हो रहे हैं। जिले में तय लक्ष्य की 69.41 प्रतिशत रकबे में सोयाबीन की बोवनी की जा चुकी है। जिले में 1 लाख 51 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन की बोवनी का लक्ष्य रखा गया है। बता दें कि पिछले साल 1 लाख 18 हजार हेक्टेयर में सोयाबीन की बोवनी की गई थी, जबकि 19 हजार 700 हेक्टेयर में मक्का की बोवनी की गई थी। इस वर्ष मक्का की बोवनी 22 हजार हेक्टेयर में करने का लक्ष्य रखा गया है। लक्ष्य विरुद्ध 9 हजार 210 हेक्टेयर में 41.86 प्रतिशत बोवनी हो चुकी है। इधर ग्राम भादूगांव के किसान राकेश बामने ने बताया कि वर्षा की लंबी खिंच नहीं किसानों की चिंता बढा दी है।

समूचे क्षेत्र में समान वर्षा होने पर की जाए बोवनी

कृषि उपसंचालक एमपीएस चंद्रावत ने किसानों को सलाह दी कि जिले के समूचे क्षेत्र में 75-100 मिलीमीटर एक समान वर्षा होने पर ही बोवनी की जाए। इसके साथ ही उन्होंने किसानों को सलाह दी कि बोवनी करने से पहले बीज को उपचारित करना जरूरी है। इसके लिए किसान जूट के बोरे को गिला कर बीज के 100 दाने अंकुरण के लिए रखें। इसके बाद अंकुरित दानों की गणना की जाए। इसमें 70 से अधिक बीज अंकुरित होने पर उसकी मात्रा में बोवनी की जाए। इससे कम संख्या में अंकुरण होने पर बीज की मात्रा बढाकर बोवनी करनी चाहिए। उन्होंने बताया कि किसानों को एक चांस से दूसरे चांस की 16 से 18 इंच दूरी रखना चाहिए।

अब तक 1 लाख 5 हजार हेक्टेयर में हुई सोयाबीन की बोवनी

फसल - 2021 का रकबा- 2022 का लक्ष्य- बोवनी- बोवनी प्रतिशत

घान - 7.405 हजार- 4.000 हजार - 1.495 हजार- 37.38

ज्वार -2.325 हजार -1.000 हजार - 0.770 हजार- 77.00

मक्का- 19.700 हजार - 22.000 हजार - 9.210 हजार- 41.86

कोटो कुटकी-0.522हजार - 1.150हजार - 0.005 हजार- 0.43

उङद- 38.400हजार - 4.500 हजार - 1.675 हजार-37.22

मूंग- 1.150 हजार- 1.500 हजार- 0.810 हजार- 54.00

अरहर- 4.390-हजार 5.500हजार- 0.520 हजार- 9.45

तिल/रामतिल- 1.088 हजार- 2.500 हजार - 0.257 हजार-10.28

सोयाबीन- 118.56 हजार- 151.400 हजार- 105.090हजार-69.41

(रकबा हेक्टेयर में, आंकङे कृषि विभाग अनुसार)

जिले में मंगलवार को नहीं हुई वर्षा

जिले में मंगलवार को किसी भी क्षेत्र में वर्षा नहीं हुई है। इससे पहले रविवार-सोमवार की जिले में 3.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवा-रविवार की रात हरदा तहसील में 11.5 मिलीमीटर हुई। जबकि टिमरनी एवं खिरकिया में वर्षा नहीं हुई। इस वर्ष अब तक हरदा तहसील में 130.2 मिलीमीटर, टिमरनी में 106.4 मिलीमीटर, खिरकिया में 100.6 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। इस तरह इस वर्ष अब तक जिले में 112.4 मिलीमीटर औसत वर्षा हो चुकी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close