हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

नगरीय निकाय चुनाव में प्रत्याशियों का प्रचार जोर शोर से चल रहा है। प्रत्याशियों के समर्थन में भोंपू की आवाज कानों के पर्दों में हलचल मचा रही है। वहीं प्रत्याशियों ने भी अपना पूरा दम-खम मतदाताओं को लुभाने में लगा दिया है। घर-घर जाकर संपर्क करने के बाद रविवार को कई वार्ड में प्रत्याशियों ने ढोल-तासे और वार्ड के लोगों के साथ रैलड़ निकालड़। इसी बीच भाजपा-कांग्रेस द्वारा की गई नगर पालिका अध्यक्ष के दावेदारों की घोषणा ने शहर के लोगों को चौंका दिया है। हालांकि दोनों दलों में नगर पालिका अध्यक्ष बनने की उम्मीद में कई प्रत्याशी पार्षद का चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में भाजपा-कांग्रेस द्वारा एक-एक नाम की घोषणा ने उनकी उम्मीद पर पानी फेरने का काम कर दिया है। हालांकि पार्षद चुनाव जीतना नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद की कुर्सी के लिए पहली कसौटी है, जिस पर खरा उतरा होगा। तभी अध्यक्ष पद का रास्ता साफ हो सकेगा।

कृषि मंत्री ने मंच से की नपा अध्यक्ष के दावेदार की घोषणा

भाजपा की ओर चल रहे पांच नामों में से एक पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने मुहर लगा दी है। उन्होंने वार्ड-34 में शनिवार की रात हुई चुनावी सभा में भारती राजू कमेड़िया का नाम अध्यक्ष पद के लिए घोषित किया है। इससे भाजपा के कई दिग्गज नेताओं के अध्यक्ष पद के सपने टूट गए, जबकि भाजपा में अध्यक्ष पद के लिए घमासान मचा हुआ था। भाजपा के दिग्गज नेता भी अध्यक्ष पद के लिए अपनी पत्नी के टिकट पर पार्षद का चुनाव लड़ने के लिए मैदान में हैं। इसमें भाजपा जिलाध्यक्ष अमर सिंह मीणा, महामंत्री देवी सिंह सांखला, भाजपा मंडल अध्यक्ष विनोद गुर्जर, अशोक राठौर, मुन्नाा धनगर शामिल हैं।

कांग्रेस ने भी अधिकृत घोषित किया अध्यक्ष का नाम

भाजपा की घोषणा के बाद कांग्रेस ने भी इस मामले में अपने आप को पीछे नहीं रहने दिया। कांग्रेस जिलाध्यक्ष ओम पटेल ने नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए सुप्रिया अशोक पटेल के नाम की घोषणा अपने इंटरनेट मीडिया की फेसबुक साइट पर की है। इसके बाद रविवार को जिला कांग्रेस प्रवक्ता गगन अग्रवाल ने प्रेसनोट जारी कर नाम की अधिकृत पुष्टि की। हालांकि कांग्रेस में उक्त सिंगल नाम पर सहमति पहले से ही बनी हुई है। कांग्रेस में और भी नगर पालिका अध्यक्ष पद के दावेदार हैं, लेकिन कभी भी चर्चा में नहीं आए। न ही उनके नाम आगे बढ़ाए गए।

भाजपाः अध्यक्ष पद की घोषणा के फायदे-नुकसान

भाजपा में यह फायदाः अध्यक्ष पद की दावेदार भारती राजू कमेड़िया के समर्थक एवं उनसे जुड़े लोग दूसरे वार्ड में उनके लिए काम कर चुनाव जीतने में पार्षद के प्रत्याशियों मदद करेंगे, कृषि मंत्री कमल पटेल द्वारा घोषणा करने पर उनके समर्थक भी अध्यक्ष के दावेदार के लिए पार्टी में कार्य करेंगे। अब कार्यकर्ताओं को अध्यक्ष के चेहरे को लेकर वार्ड में मतदाताओं को समझाने में आसानी होगी।

भाजपा में यह नुकसानः भाजपा की ओर अन्य वार्डों में अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ रहे दावेदारों में अंसतोष पनपने और भितरघाट बढ़ने की आशंका बनी हुई है। इसमें संगठन की ओर से चुनाव लड़ रहे दिग्गजों एवं अध्यक्ष पद के दावेदार के समर्थक नेताओं और कार्यकर्ताओं में टकराव बढ़ने के भी कयास लग रहे हैं। सामाजिक समीकरण भी बिगड़ने के अनुमान हैं।

कांग्रेसः अध्यक्ष पद की घोषणा के फायदे-नुकसान

कांग्रेस में फायदेः अध्यक्ष पद का नाम स्पष्ट होने के बाद कार्यकर्ताओं को अध्यक्ष पद के चेहरे की छवि का फायदा मिलने का अनुमान है। अध्यक्ष पद के नाम की घोषणा करने के बाद कांग्रेस तस्वीर साफ हो गई है। सुप्रिया को अपने ससुर पूर्व विधायक द्वारा किए गए कार्यों का फायदा मिलेगा। ससुर की स्वच्छ नेता की छवि का फायदा मिलेगा। राजनीतिक सामाजिक सक्रियता का लाभ कांग्रेस के वार्ड प्रत्याशियों को मिलेगा।

कांग्रेस में यह नुकसानः अध्यक्ष पद के नाम की घोषणा के बाद कांग्रेस के अन्य अध्यक्ष पद के दावेदारों में भी असंतोष बढ़ने की संभावना है। अध्यक्ष पद के दावेदार की घोषणा होने के बाद अन्य दावेदारों के नाम आगे बढ़ाने वाले दिग्गज नेताओं में भी टकराव की स्थिति बन सकती है।

वर्जन

कांग्रेस के नेताओं, वार्ड के पार्षद प्रत्याशियों और जनता से चर्चा कर नाम पर सहमति बनी है। इसके बाद नाम की घोषणा की गई है। इस नाम की घोषणा के बाद अध्यक्ष पद की दावेदार सुप्रिया पटेल एवं उनके ससुर पूर्व विधायक नन्हेलाल पटेल की छवि का फायदा वार्ड के सभी पार्षद प्रत्याशियों को मिलेगा।

- ओम पटेल, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close