नर्मदापुरम, नवदुनिया प्रतिनिधि। असत्य पर सत्य और अधर्म पर धर्म की जीत का पर्व विजयदशमी धूमधाम के साथ मनाया गया। रामलीला देखने के लिए पहुंचे हजारों दर्शकों से खचाखच भरे दशहरा मैदान में राम के दल और रावण दल के बीच घनघोर युद्ध की लीला का प्रदर्शन हुआ। श्रीराम के द्वारा 31 बाण चलाते हुए रावण का वध करने के साथ ही विजयदशमी का पर्व मनाया गया। आज की लीला में मैदान में रामजी के साथ युद्ध करने के लिए रावण आया। श्रीराम की सेना और रावण की सेना के बीच घनघोर युद्ध हुआ। जिसमें रामजी की जीत हुई। और रावण के घमंड का अंत हुआ। सूर्यास्त होते ही रावण के 31 फीट उचे पुतले का दहन किया गया। इसी के साथ आतिशबाजी की गई। तीन दिनों से रामलीला मैदान में रामलीला जारी थी जिसका आज समापन हुआ। अब सेठानी घाट पर गुरुवार को राम राज्याभिषेक की लीला का आयोजन होगा।

मौजूद रहे हजारों दर्शक - रामलीला और रावण का पुतला देखने के लिए शहर तथा आसपास ग्राम्रीण अंचल से बड़ी संख्या में दर्शक मौजूद रहे। रावण के चलायमान पुतले और युद्ध का प्रदर्शन करीब एक घंटे तक रामलीला मैदान में हुआ। एक रथ पर रामजी और एक रथ पर रावण सवार हुए पूरे मैदान में बग्गी चल रही थी। जो आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी। दोनों दलों की सेना आपस में युद्ध कर रही थी। मंच से रामचरित मानस के संवादों के संकेत दिए जा रहे थे। दशहरा मैदान में मेला लगा रहा। जहां बच्चों के खिलौने तथा अन्य सामग्री की खूब बिक्री हुई।

महाकाली और दुर्गा मूर्ति आई : रामलीला मैदान में जुमेराती वाली देवी माता महाकाली और दुर्गा जी की मूर्ति में पहुंची। सूर्यास्त होते ही अहंकारी रावण के पुतले में आग लगाई गई। 3 मिनिट में पुतला खाक हो गया। रामजी की जीत होते ही आतिशबाजी की गई। रामलीला मैदान में बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा।

सूर्यास्त होते ही किया रावण का दहनः जैसे ही सूर्यास्त हुआ आइजी दीपिका सूरी, कलेक्टर नीरज सिंह और रामलीला समिति के पदाधिकारियों ने रावण के पुतले में महताव से आग लगाई। पुतला जलते ही आतिशबाजी होने लगी। सभी लोग राम दरबार की ओर पहुंचे और भगवान श्रीराम की आरती उतारी।

राम दरबार की हुई आरतीः रावण का वध करने के बाद भगवान राम लक्ष्मण को सिंहासन पर विराजमान किया गया। हनुमान जी ने अशोक वाटिका से सीता जी को लेकर आए तदोपरांत अग्नि परीक्षा के बाद सीता जी भी रामजी के साथ सिंहासन पर विराजमान हुई। अतिथियों और रामलीला के वरिष्ठजनों ने राम दरबार की आरती की।

एक दूसरे को दी शुभकामनाएं

भगवान श्रीराम द्वारा रावण पर विजय प्राप्त करते ही रामलीला मेैदान में उपस्थित सभी लोगों ने एक दूसरे को विजया दशमी पर्व की शुभकामनाएं दी। कई लोगों ने इस मौके पर सोना पत्ती देते हुए भी एक दूसरे को बधाई दे रहे थे। इस मौके पर विधायक डा सीतासरन शर्मा, आइजी दीपिका सूरी, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भवानी शंकर शर्मा, समिति अध्यक्ष गिरजा शंकर शर्मा, कलेक्टर नीरज सिंह,अपर कलेक्टर मनोज ठाकुर, एसडीएम वंदना शर्मा, डा वैभव शर्मा, सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी रामलीला समिति के सदस्य व हजारों की संख्या में दर्शक मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close