होशंगाबाद, नवदुनिया प्रतिनिधि। गुरुवार से हरदा क्षेत्र के लिए नहर से पानी छोड़ा जाएगा। जिससे इटारसी सिवनी मालवा क्षेत्र के किसानों को भी पलेवा करने में लाभ मिलेगा। पलेवा के बाद ही रबी की बोवनी शुरू हो सकेगी। बीती रात हुई बोवनी से रिक्त खेतों में पलेवा का फायदा हुआ है। वहीं जो धान और सोयाबीन की फसल कट रही है उन किसानों को आंशिक नुकसान होना बताया जा रहा है। कृषि विभाग के अनुसार संभाग में इस बार 8 लाख 50 हजार हेक्टेयर में रबी की बोवनी होगी। क्षेत्र में पर्याप्त बारिश होने से किसानों और कृषि विभाग का ध्यान इस बार फिर गेहूं की बोवनी की और ज्यादा है। चना का रकबा भी बढ़ने की संभावना बताई जा रही है। इस माह के अंत तक बोवनी तेज हो जाएगी।

होशंगाबाद में सबसे ज्यादा होगी गेहूं की बोवनी

संभाग के तीनों जिलों में बोवनी का लक्ष्य तय होने के बाद यह बात सामने आ रही है कि होशंगााबाद जिले में इस बार फिर सबसे अधिक गेहूं की बोवनी होगी। होशंगाबादएहरदा और बैतूल में 7 लाख 20 हजार हेक्टेयर में गेहूं की बोवनी होना है। जिसमें होशंगाबाद जिले में करीब 2 लाख 90 हजारएहरदा में 1 लाख 70 हजारएऔर बैतूल में 2 लाख 50 हजार हेक्टेयर में होगी। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस