होशंगाबाद/पिपरिया। होशंगाबाद जिले के पर्यटन स्थल पचमढ़ी में शुक्रवार-शनिवार की रात छत्तीसगढ़ के रायपुर के व्यापारी कपिल कक्कड़ की उसी के साथी के गनमैन ने गोली मारकर हत्या कर दी। जिसके बाद आरोपित फरार हो गए थे, लेकिन पुलिस ने छिंदवाड़ा जिले के तामिया और मटकुली के बीच उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

बाइकर्स क्लब के सदस्य निकले थे भ्रमण पर, आपस में हुआ विवाद

छग के बाइकर्स क्लब के 20 सदस्य बाइक से भ्रमण पर पचमढ़ी आए थे। इन्हीं में रायपुर के अनाज व्यापारी कपिल कक्कड़ (38) और दुर्ग के पद्मनाभपुर सेक्टरएच, निवासी कारोबारी हरसिमरन ओबेराय उर्फ हनी सिंह (33) भी शामिल थे। हनी के साथ उसका गनमैन धर्मापाल सिंह भी था। रात में सभी होटल में साथ खाना खा रहे थे। इस दौरान कपिल ने हनी से कहा कि खाना खाते समय गनमैन का कोई काम नहीं है। इसे यहां से हटा दिया जाए। जिस पर कपिल और हनी के बीच विवाद हो गया। दोनों में मारपीट होने लगी। इसी दौरान हनी के गनमैन धर्मपाल सिंह ने अपनी पिस्टल से एक गोली हवा में चलाई और दूसरी गोली कपिल को मार दी। जिससे कपिल वहीं गिर गया। उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

गनमैन को लेकर शुरू हुए विवाद में व्यापारी की हत्या

रायपुर से पचमढ़ी जाने से पहले होशंगाबाद में ऑफिसर्स क्लब के पास बाइकर्स कपिल कक्कड़ और हरसिमरन उर्फ हनी ओबेरॉय के बीच गनमैन लाने को लेकर विवाद कहा सुनी हो गई थी। बताया जाता है कि बाइकर्स के पीछे फॉरचूनर कार से हनी का गनमैन धर्मपाल सिंह चल रहा था तभी कपिल ने आपत्ति जताई। होशंगाबाद में ऑफिसर्स क्लब के सामने देहात थाने के पुलिसकर्मी ने इन्हें रोककर पूछताछ की थी। उसी दौरान कपिल ने हनी को कहा था कि इस गनमैन को लाने की क्या जरुरत थी। हनी ने कपिल को घूरकर देखा था। ऑफिसर्स क्लब के सामने कपिल और हनी के बीच हुई क्षणिक अनबन ने पचमढ़ी के चंपक रिसोर्ट में हत्या का रुप ले लिया।

पचमढ़ी में सभी 20 बाइकर्स अलग-अलग होटलों में ठहरे थे। इनके बीच में यह तय हुआ था कि 28 सितंबर को सभी एक साथ रात्रि भोज करेंगे और आगे के सफर की प्लानिंग करेंगे। निर्धारित किए गए समय पर ही सभी बाइकर्स चंपक होटल के लॉन में पहुंच गए थे। लॉन के एक कोने में होटल स्टॉफ ने इनके बैठने व खाने की व्यवस्था की थी। खाना पहले ही आर्डर कर दिया था। इसी बीच हरसिमरन का गनमैन धर्मपाल सिंह वहां घूमता हुआ दिखा।

कपिल ने कहा गनमैन को यहां लाने की क्या जरुरत, हनी बोला मेरा स्टेट्स है

धर्मपाल को टेबल के पास देखते ही कपिल ने गनमैन से कहा कि गनमैन को हम बाइकर्स के बीच में लाने की क्या जरुरत है। यहां किसी से कोई जान की खतरा नहीं है। कपिल का कहना था कि गनमैन को यहां से हटाया जाए कपिल की बात का समर्थन अन्य बाइकर्स ने भी कि या। कपिल की बात सुनते ही हनी ने उससे बहस करनी शुरू कर दी। हनी का कहना था कि गनमैन रखना मेरा स्टेट्स है वो यहां कहीं नहीं जाएगा। इस पर कपिल का कहना था कि गनमैन को तो यहां से हटाना पड़ेगा। कोई भी बाइकर्स स्टेट्स में एक दूसरे से कम नहीं है। बातचीत से शुरू हुआ विवाद इतना बढ़ा कि कपिल और हनी के बीच झूमाझटकी शुरू हो गई।

बीच बचाव करने आए बाइकर्स, गनमैन समझा हमला कर दिया

कपिल और हनी के बीच हुए विवाद को शांत कराने के लिए अन्य बाइकर्स बीच में आ गए इसके बाद भी दोनों के बीच में बहस होती रही। इसी बीच हनी के गनमैन धर्मपाल ने अपनी रिवाल्वर निकाल ली और हवा में फायर कर दिया। वहां मौजूद लोग कुछ समझ पाते तभी धर्मपाल ने कपिल के सिर में गोली मार दी। गोली लगते ही कपिल कुर्सी से नीचे गिर पड़ा। वहां मौजूद होटल के स्टॉफ व साथी उसे अस्पताल लेकर गए जहां जांच के बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। हत्याकांड को अंजाम देने के बाद हनी व धर्मपाल वहां स अपनी फॉरचूनर कार से फरार हो गए।

फॉरचूनर से भाग रहे आरोपित मटकुली-पचमढ़ी में पकड़ाए

हत्याकांड की जानकारी होटल स्टॉफ ने पचमढ़ी थाना प्रभारी महेंद्र तांडेकर को दी। टीआई पुलिस बल के साथ पहुंचे और बाइकर्स से पूछताछ की। इसके बाद महकमे के आला अधिकारियों को घटना की सूचना दी गई। आला अधिकारियों के निर्देश पर मटकुली, तामिया तक पुलिस ने घेराबंदी कर दी। पुलिस को देख आरोपितों ने कार की रफ्तार और बढ़ा दी थी, लेकिन पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों को पचमढ़ी थाने लाया गया जहां पूछताछ की गई। रविवार सुबह पुलिस ने शव का पीएम कराकर शव साथियों को सौंप दिया गया है। पुलिस ने मृतक के परिजनों को भी सूचना दे दी है। पुलिस ने हरसिमरन उर्फ हनी व उसके गनमैन धर्मपाल पर हत्या का के स दर्ज कर लिया है।

सालाना बैठक में शामिल होने आए थे सभी बाइकर्स

पूछताछ के दौरान सामने आया कि सभी बाइकर्स रायपुर के बाइकर्स समूह के सदस्य हैं। इस समूह में 20 युवक पचमढ़ी घूमने के लिए आए थे। बाइकर्स रायपुर, भिलाई व दुर्ग के रहने वाले हैं। कपिल कक्कड़, हरसिमरन उर्फ हनी, राहुल सिंह, भावेश ताम्रकार, अजीत सिंह सेंगर, अर्जुन सिंह गरचा, गगन सिंह भाटिया के साथ और भी अन्य युवक थे। यह सभी लोग 27 सितंबर को अपने-अपने शहर से रायपुर पहुंचे थे यहां से एक साथ पचमढ़ी के निकले थे। पांच बाइकर्स चंपक रिसोर्ट में ठहरे थे जबकि अन्य बाइकर्स अलग-अलग होटलों में रुके थे।

दुर्ग के नामी बिल्डर का पौत्र है हनी

हनी के पिता दुर्ग में पीडब्ल्यूडी में के ए श्रेणी के ठेकेदार हैं व उसके दादा का एसएस नाम से फर्म है। जिनके कई कई बड़े प्रोजक्ट भी चल रहे हैं। हनी के गुस्सैल स्वभाव को देखते हुए पिता ने ही गनमैन रखवाया हुआ है। बाइकर्स जब रायपुर से निकले तो धर्मपाल हनी की फॉरचूनर से पीछे-पीछे चल रहा था। जहां भी बाइकर्स जा रहे थे धर्मपाल फॉरचूनर लेकर जा रहा था। धर्मपाल सेवानिवृत्त फौजी है और मूलतः जानकीपुरम लखनऊ का रहने वाला है उसे हनी ने 35 हजार रुपए प्रतिमाह पर नौकरी पर रखा था। धर्मपाल सनी के साथ साये की तरह साथ रहता था।

रायपुर का युवा कारोबारी था कपिल कक्कड़

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पंजाबी कॉलोनी निवासी मृतक कपिल के पिता तिलकराज व चाचा उद्योगपति महेश कक्कड़ हैं। कपिल की गिनती रायपुर के रईस लोगों में होती है। कपिल कक्कड़ और उसके परिवार का कटोरा तालाब में बड़ा आलीशान बंगला और मार्केट काम्प्लेक्स है। कटोरा तालाब में ही कक्कड़ भवन है। जानकारी के मुताबिक कपिल के पिता हाल ही में आर्मी से रिटायर हुए हैं। मृतक खुद भी बड़ा बिजनेसमैन था और परिवार का पूरा कारोबार खुद ही संभालता था।

दस लाख से अधिक ही बाइक की कीमतें

पुलिस की पूछताछ में सामने आया है कि बाइकर्स का संगठन पजीकृत नहीं है, सिर्फ घूमने फिरने के लिए ही बीस लोगों ने एक ग्रुप बनाया हुआ है। सभी सदस्य अलग-अलग कारोबार से जुड़े हुए हैं। बाइकर्स टीम में शामिल बाइकर्स कितने रईस हैं इसका इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि इनकी बाइक की कीमत दस से बीस लाख रुपए से अधिक है।

ग्रुप के सभी सदस्यों की बाइक की कीमतें दस-दस लाख रुपए से अधिक हैं। ग्रुप के सदस्यों के पास हार्ले डेविडससन, हायाबुसा, कावासाकी निंजा बाइक भी है।

आरोपितों से पूछताछ कर रहे हैं

कपिल कक्कड़ की हत्या के आरोपित हनी व उसके गनमैन धर्मपाल से पूछताछ की जा रही है। अभी कई बिंदुओं पर जांच होना है। अन्य बाइकर्स से भी पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले में और खुलासा कि या जाएगा।

- एमएल छारी, एसपी