नर्मदापुरम। रणजी ट्राफी के फानइल मुकाबले में मप्र की टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए विजेता का खिताब जीत लिया। मप्र टीम के जीतते ही नर्मदापुरम के क्रिकेट खिलाड़ियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बड़ी संख्या में खिलाड़ी मैदान पर पहुंचे और पटाखे फोड़े। खिलाड़ियों ने इस दौरान एक कतार में खड़े होकर भी जश्न मनाया और जमकर नारे भी लगाए। इस दौरान कोच नंदकिशोर यादव सहित अन्य खिलाड़ी भी मौजूद रहे। खिलाड़ियों का कहना था कि उनके यश और गौरव के शानदार प्रदर्शन की बदौलत मप्र की टीम रणजी ट्राफी के फाइनल में पहुंची और जीत दर्ज की यह बड़ी उपलब्धि है। 88 साल बाद रणजी ट्राफी में विजेता बनने का गौरव प्राप्त हुआ है। मप्र जूनियर चयन समिति के सदस्य अनुराग मिश्रा ने बताया कि दोनों ही खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन करने के लिए आश्वस्त किया था। खिलाड़ियों ने अपना वादा पूरा किया गया है। नौ जवान खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा स्त्रोत का काम किया है। इस तरह का प्रदर्शन खिलाड़ी आगे भी करते रहेंगे। नर्मदापुरम क्रिकेट का स्वर्णिम युग कहा जा सकता है जब जिले के दो होनहार खिलाड़ी मप्र की टीम का हिस्सा बने। दोनों खिलाड़ी अपने प्रदर्शन की दम पर जल्द ही भारतीय टीम का हिस्सा बनेंगे।

खिलाड़ियों के बेहतर प्रदर्शन ने दिलाई जीत

नर्मदापुरम। मध्य प्रदेश टीम ने साहसिक खेल दिखाते हुए 41 बार की चैंपियन मुंबई को रणजी ट्राफी फाइनल मुकाबले में 6 विकेट से परास्त कर इतिहास रचते हुए रणजी ट्राफी पर कब्जा किया। मध्यप्रदेश रणजी ट्राफी जीत में नर्मदापुरम के खिलाड़ियों का विशेष योगदान रहा। नर्मदापुरम के दोनों होनहार खिलाड़ी यश दुबे एवं गौरव यादव के दमदार प्रदर्शन की बदौलत मध्य प्रदेश टीम ने रणजी ट्राफी फाइनल मुकाबले में जीत दर्ज की। दोनों खिलाड़ियों ने गेंदबाजी और बल्लेबाजी के दमदार प्रदर्शन करते हुए मैच में विशेष योगदान दिया। खिलाड़ी यश दुबे ने पहली इनिंग में दमदार बल्लेबाजी करते हुए 133 रन बनाए थे जिसकी बदौलत मध्य प्रदेश टीम ने मुंबई पर बढ़त बनाई। गेंदबाजी के क्षेत्र में सिवनी मालवा तहसील के शिवपुर गांव के खिलाड़ी गौरव यादव ने पहले इनिंग में 4 विकेट दूसरे ने 2 विकेट कुल 6 विकेट लेते हुए अहम योगदान दिया। मध्य प्रदेश टीम की रणजी ट्राफी फाइनल में जीत के सूत्रधार अन्य खिलाड़ी शुभम शर्मा, रजत पाटीदार, कुमार कार्तिकेय जिन्होंने दमदार प्रदर्शन किया। मध्य प्रदेश टीम 88 साल के इतिहास में पहली बार चैंपियन बनी। मध्य प्रदेश टीम की ऐतिहासिक उपलब्धि पर नर्मदापुरम संभाग क्रिकेट एसोसिएशन अध्यक्ष कपिल फौजदार चेयरमैन, रोहित फौजदार, मध्य प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन जूनियर सिलेक्शन कमिटी के सदस्य अनुराग मिश्रा, सचिव प्रदीप सिंह तोमर, उपाध्यक्ष राजेश तिवारी, कुलभूषण मिश्रा, योगेश परसाई, अनंत तिवारी, निर्वेश फौजदार, राजेश चौरे, मनोहर बिलथरिया, सलीम सिद्दीकी, राजीव दुबे, अनिल दीक्षित, हेमंत गोस्वामी, सुनील कलोसिया, राजेंद्र वर्मा, महमूद कुरैशी, एनडीसीए कोच नंदकिशोर यादव, मनीष यादव, वर्षा पटेल ने हर्ष जताया है।

थथथथ

इर्ीॅािीि घीाचैनज थ

ऽऽऽऽ

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close