नर्मदापुरम, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल रेल मंडल के एडीआरएम गौरव सिंह पर महिला थाने में शनिवार को दुष्कर्म का केस दर्ज हुआ है। एडीआरएम सिंह पर आरोप है कि उसने एक महिला रेल कर्मी को पहले नौकरी दिलाने का झांसा दिया व नौकरी लगने के बाद तबादला कराने की बात कहकर दुष्कर्म करता रहा। एडीआरएम की हरकतों से परेशान महिला पिपरिया पहुंची थी, जहां उसने अपने हाथ की नस काट कर खुदकुशी की कोशिश की। पुलिस ने महिला को वन स्टाप सेंटर में भर्ती कराया व बयान लेने के बाद एडीआरएम के विरुद्ध कार्रवाई की। महिला का आरोप है कि एडीआरएम सिंह नौकरी के मिलने के पहले से ही उसे परेशान करता रहा है।

दो माह पहले हरदा में हुई शादी

पीड़ित महिला ने अपने बयान में कहा है कि उसकी शादी दो माह पहले ही हरदा हुई है। एडीआरएम द्वारा लगातार परेशान किया जा रहा था। महिला का आरोप है कि 2021 से एडीआरएम द्वारा लगातार शोषण किया जा रहा था। शादी के बाद से भी आरोपित एडीआरएम उसे परेशान कर रहा था। महिला थाना प्रभारी सुरेखा निमोदा ने महिला के बयान लेने के बाद एडीआरएम पर केस दर्ज कर लिया है।

पति ने आइजी से की शिकायत

इधर महिला के पति ने आइजी से अपनी पत्नी व एडीआरएम के संबंधों को लेकर शिकायत की है। आवेदक का कहना है कि एडीआरएम सिंह उसकी पत्नी को बेटी बोलता था। शादी के पहले से ही वह गौरव के संपर्क में थी। कुछ दिन पहले कार से बैग लेकर जा रही थी, तब उसने पूछा तो पत्नी ने बहस की और सोने-चांदी के जेवर लेकर भोपाल चली गई थी। गौरव सिंह व उसकी पत्नी पहले से ही मिले हुए हैं और धोखे से शादी करा दी।

पिता की जगह अनुकंपा नियुक्ति मिली है

एडीआरएम पर आरोप लगाने की वाली रेल कर्मी को अनुकंपा नियुक्ति मिली है। पिता रेलवे में पदस्थ थे। कोरोना के कारण उनकी मौत हो गई थी। 2021 में अनुकंपा नौकरी मिली। भोपाल में पदस्थापना मिलने के कुछ दिन बाद हरदा पहुंची थी और उसके बाद वापस भोपाल आ गई थी।

महिला के बयानों के आधार पर एडीआरएम गौरव सिंह पर दुष्कर्म का केस दर्ज किया गया है। महिला ने पिपरिया में नस काटकर खुदकुशी की कोशिश की थी। उसके बयान लिए गए हैं। जीरो पर केस दर्ज किया गया है, आगे की कार्रवाई भोपाल पुलिस करेगी।

- पराग सैनी, एसडीओपी, नर्मदापुरम

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close