होशंगाबाद। सतपुड़ा टाईगर रिजर्व Satpura Tiger Reserve के पर्यटन स्थल मढ़ई क्षेत्र में बुधवार को सिद्धनाथ नामक हाथी ने चारा काट रहे अस्थायी कर्मचारी पर हमला कर दिया। उसे गंभीर हालत में भोपाल रेफर किया है। इस घटना से सतपुड़ा टाईगर रिजर्व Satpura Tiger Reserve क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

चारा काटने के दौरान उग्र हो गया था हाथी

Satpura Tiger Reserve डिप्टी रेंजर लखन पटेल ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि चारा कटर के पद पर कार्यरत अस्थायी कर्मचारी संजय कुमरे(35) पिता सुमेर कुमरे सुबह करीब 10.30 बजे चारा काट रहा था। पास में ही सिद्धनाथ हाथी खड़ा था। डिप्टी रेंजर लखन पटेल ने बताया कि अचानक हाथी उग्र हो गया और उसने संजय को सूंड में जकड़कर उठा लिया।

चीखपुकार सुनकर बचाने आए साथी कर्मचारी

बताया जाता है कि हाथी के हमले के बाद संजय की चीखपुकार सुनकर साथी कर्मचारी उसे बचाने आए, तब तक हाथी ने संजय को जमीन पर पटक दिया। दोबारा उठाकर पेट व कमर में दांत मार दिए। महावत सुरेश सहित अन्य लोगों ने हाथी का ध्यान भटकाकर संजय को बचाया। संजय को विभागीय वाहन से सोहागपुर अस्पताल ले गए। वहां से उसे होशंगाबाद और फिर भोपाल रेफर कर दिया।

गुस्सैल प्रवृत्ति का हाथी है

डिप्टी रेंजर प्रदीप पंकज ने जानकारी देते हुए बताया कि सिद्धनाथ हाथी को चूरना रेंज से 5 अक्टूबर को ही मढ़ई लाया गया था। वह गुस्सैल प्रवृत्ति का है, इसलिए उसकी जगह बार-बार बदली जाती है। जबकि यह हाथी सबसे ज्यादा प्रशिक्षित है।

हमले के बाद उसे जंजीरों में जकड़कर रखा गया

उल्‍लेखनीय है कि कर्मचारी पर हमले के बाद उसे जंजीरों में जकड़कर रखा गया है। महावत सुरेश निगरानी कर रहा है। अन्य लोगों को उसके पास जाने से मना किया है।Satpura Tiger Reserve सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक एसके सिंह के मुताबिक घायल कर्मचारी का ध्यान रखा जा रहा है। उसे नियमानुसार आर्थिक मदद दी जाएगी।