लीड खबर पेज 13

फोटो 13 हरदा। कालेज में प्रवेश के पहले स्क्रीनिंग करते हुए।

फोटो 12 हरदा। विभिन्ना काउंटर पर जमा हुई उत्तर पुस्तिका।

कैचवर्डः अंतिम दिन भीड़ अधिक होने के कारण स्वामी विवोकनंद कॉलेज में व्यवस्थाएं चरमराई

हैडिंगः 32 सेंटरों पर दो दिनों में स्नातक की 3326 और स्नातकोत्तर की 1237 उत्तर पुस्तिका जमा

हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

कोविड -19 के संक्रमण से बचने के लिए उच्च शिक्षा विभाग ने इस बार परीक्षा ओपन बुक पद्धति प्रणाली से करवाई है। एक साथ एक जगह में विद्यार्थी कॉलेज में एकत्रित नहीं हों, इसके लिए घर से तैयार कर असाइनमेंट जमा करना था, लेकिन जिले के कॉलेजों में उच्च शिक्षा विभाग की इस व्यवस्था को बिगड़ते देखा गया। जिला मुख्यालय के स्वामी विवेकानंद कॉलेज में सैकड़ों छात्र-छात्राएं असाइनटमेंट जमा करने, ऑनलाइन प्रवेश की प्रक्रिया के लिए कॉलेज पहुंच गए। हालात यह थे, कि कॉलेज के मुख्य गेट के सामने विद्यार्थियों की काफी भीड़ जमा हो गई। कोरोना संक्रमण के डर से उच्च शिक्षा विभाग ने परीक्षा की पद्धति बदली थी, लेकिन परीक्षा के डर ने इसे फेल कर दिया। जिले में उत्तर पुस्तिका जमा करने के लिए 32 केंद्र बनाए गए थे, लेकिन विद्यार्थियों की अधिकांश भीड़ लीड कालेज में दिखाई दी। बुधवार को स्वामी विवेकानंद सरकारी कॉलेज में स्नातक स्तर के 177 और स्नातकोत्तर के 174 विद्यार्थयिों ने उत्तर पुस्तिका जमा की है।

20 स्कूल और 12 कॉलेज में बनाए थे सेंटर

जिले में स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षाओं में करीब 5000 विद्यार्थियों ने भाग लिया है। इन विद्यार्थियों की उत्तर पुस्तिकाओं को जमा करने के लिए जिले भर में 32 संग्रहण केंद्र बनाए गए थे। जिसमें 20 स्कूल और 12 कालेजों को शामिल किया गया था। बुधवार को जिले में स्नातक के 1179 छात्र - छात्राओं ने उत्तर पुस्तिका जमा की, वहीं स्नातकोत्तर विद्यार्थियों की संख्या 537 रही। इसी प्रकार दो दिन यानी मंगलवार और बुधवार को जिले में स्नातक स्तर की 3326 उत्तर पुस्तिका और स्नातकोत्तर स्तर की 1237 उत्तर पुस्तिकाएं विद्यार्थियों ने जमा की हैं।

घर पर ही हल किए प्रश्नपत्र

कोरोना महामारी के दौरान कालेज की कक्षाएं नहीं लगने की स्थिति में राज्य शासन ने स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षाओं के लिए ओपन बुक प्रणाली से व्यवस्था की है, जिसके तहत 10 से 14 सितंबर तक प्रश्न पत्र डाउनलोड कर परीक्षार्थियों को घर पर ही प्रश्नपत्र हल करना था। इसके बाद मंगलवार और बुधवार दो दिन उत्तरपुस्तिकाओं को जमा करने के लिए निर्धारित किए थे। पहले ही दिन शहर के लीड कॉलेज में जिले भर के परीक्षार्थी उत्तरपुस्तिकाएं जमा करने पहुंचे। सुबह से शाम तक दोनों कॉलेजों में विद्यार्थियों की भीड़ लगी रही।

बड़ी संख्या से बिगड़े हालात

कालेज में उत्तर पुस्तिका जमा करने छात्राओं की संख्या अधिक होने के कारण ऐसी स्थिति बन गई। दरअरसल एक छात्रा को 9 असाइनमेंट जमा करना हैं। जिसके लिए कॉलेज ने अलग-अलग कक्ष निर्धारित किए थे, लेकिन छात्राओं की संख्या ज्यादा होने से भीड़ बढ़ गई। इसके अलावा प्रवेश प्रक्रिया में शामिल होने वाले विद्यार्थियों ने भी भीड़ बढ़ा दी।

विद्यार्थियों ने कहा

1. कॉलेज में सभी व्यवस्थाएं ठीक थीं। प्राफेसरों द्वारा व्यवस्थित रूप से कॉपी जमा की गई। प्रवेश के पहले स्क्रीनिंग की गई। सिर्फ कॉलेज में लापरवाही दिखाई दी। कॉलेज में छांव के लिए कोई व्यवस्था भी नहीं की गई थी।

फोटो 17 हरदा। अरबाज खान।

2. कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्य गेट पर स्क्रीनिंग की गई, लेकिन भीड़ अधिक होने के कारण शारीरिक दूरी का पालन कहीं पर दिखाई नहीं दिया। इसके अलावा सभी उत्तर पुस्तिका जमा हो गई। कॉलेज स्टॉफ ने सहयोग भी किया।

फोटो 16 हरदा। श्यामलाल।

इनका कहना है

जिले में दो दिनों में स्नातकोत्तर की 3326 और स्नातकोत्तर की 1237 उत्तर पुस्तिका जमा की गई है। जिले में 32 सेंटर बनाए गए थे, जिसमें 20 स्कूल और 12 कालेजों को शामिल किया गया था। कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्य गेट पर ही विद्यार्थियों की स्क्रीनिंग की गई। भीड़ अधिक होने के कारण थोड़ी परेशानी हुई।

प्रभा सोनी, स्वामी विवेकानंद कॉलेज प्राचार्य

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020