होशंगाबाद। माखननगर में करीब छह साल पहले जुआ फड़ पर हुए बहुचर्चित राजू चौहान हत्याकांड के छह आरोपितों को न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। आरोपितों पर 55 हजार स्र्पए का जुर्माना भी किया गया। सजा सुनाए जाने के बाद आरोपितों के परिजन भड़क गए और न्यायालय परिसर के बाहर शोर मचाने लगे। जिसके बाद न्यायालय परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया था।

यह है मामला

लोक अभियोजक केके थापक ने बताया कि 17 नवंबर 2012 को एक खेत में जुआ खेलने के दौरान राजू चौहान और विकास कुचबंदिया में विवाद इतना बढ़ा कि मारपीट होने लगी। इसी दौरान जगदीश उर्फ जग्गू कुचबंदिया, विशाल कुचबंदिया, नीतेश कुचबंदिया, नवनीत उर्फ नब्बू व विवेक हथियारों से लैस होकर अपने दो तीन अन्य साथियों के साथ आ गए।

तभी जग्गू ने कहा कि राजू बचकर ना जाने पाए। मौके पर मौजूद सभी लोगों ने राजू को पकड़ लिया और उसके सिर पर रॉड मार दी। तभी अन्य लोगों ने फर्से व लट्ठ से हमला कर दिया। राजू की मौके पर मौत हो गई। न्यायालय ने नीतेश कुचबंदिया, राहुल उर्फ छोटू उर्फ खोखा तिवारी, विकास कुचबंदिया, जगदीश उर्फ जग्गू, नवीनत उर्फ नब्बू, विशाल, व विवेक को न्यायालय ने हत्या का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है।

Posted By: