होशंगाबाद। ड्राइवर वीरू उर्फ वीरेंद्र पचौरी की हत्या कर शव के टुकड़े करने वाले आरोपित सरकारी डॉक्टर सुनील मंत्री की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने उसकी हथकड़ी को जंजीर से बांध दिया। इस जंजीर को एक टेबल से बांधा है।

उसकी पत्नी सुषमा का डेथ रिकार्ड भी पुलिस के हाथ लग गया। इसकी जांच खुद एसपी अरविंद सक्सेना कर रहे हैं। कोतवाली में बंद डॉक्टर को जैसे ही इस बात का पता चला, वैसे ही वह पुलिसकर्मियों पर गुर्राने लगा। फिर माथे पर हाथ रखकर बैठ गया।

उल्लेखनीय है कि डॉ. मंत्री की पत्नी सुषमा की मौत 8 अप्रैल 2017 को हुई थी, लेकिन डॉक्टर ने उसका पीएम नहीं कराया था। इस रिकार्ड में इस बात का जिक्र है। करीब आधा दर्जन पन्नों के रिकार्ड को शुरुआती तौर पर देखने के बाद एसपी के निर्देश पर सिटी कोतवाली के जांच अधिकारी अगली कार्रवाई करेंगे।

संभावना है कि पत्नी की मौत के संबंध में भी पुलिस जल्द बड़ा खुलासा कर सकती है। रिमांड अवधि में पूछताछ के दौरान भी डॉक्टर का बर्ताव मानसिक रोगियों जैसा ही है। कभी वह रोने लगता है और कभी अचानक गुमसुम हो जाता है। शनिवार को आरोपित डॉक्टर की रिमांड अवधि समाप्त होने के बाद उसे कोर्ट में पेश कि या जाएगा।

घर के ही कंबलों पर सोता है आरोपित

डॉक्टर को जिस कक्ष में रखा जा गया है, उसकी चौकसी बढ़ा दी गई है। उसके परिजनों को भी वहां बिना अनुमति जाने नहीं दिया जाता। पुलिस को पता चला है कि वीरू की हत्या से एक दिन पहले उसने कई लोगों को फोन लगाए थे। पुलिस अब उन नंबरों की भी जांच कर रही है।

रिकार्ड का अध्ययन कर रहे हैं

हत्या के आरोपित डॉ. सुनील मंत्री की पत्नी सुषमा की मौत से संबंधित रिकार्ड मिल गया है। इस रिकार्ड का अध्ययन कि या जा रहा है। रिकार्ड के जरिए काफी बातों का पता कि या जा रहा है। वीरू की पत्नी से भी जानकारी ली गई है। शनिवार को आरोपित कोर्ट में पेश कि या जाएगा।

-अरविंद सक्सेना, एसपी, होशंगाबाद

Posted By: