होशंगाबाद। ड्राइवर वीरू उर्फ वीरेंद्र की हत्या कर शव के टुकड़े करने वाले आरोपित डॉ. सुनील मंत्री के तेवर सेंट्रल जेल पहुंचने के बाद भी कायम रहे। रात उसकी बमुश्किल कटी, लेकिन रविवार की सुबह उसने रसूख दिखाते हुए पीने के लिए बिसलरी का पानी मांगा। जिस पर जेलकर्मियों ने उसे जेल के नियम कायदे बताकर वही पानी पिलाया, जो सारे कैदी पीते हैं।

जानकारी के अनुसार सेंट्रल जेल के खंड 'अ" की बैरक में बंद डॉ. सुनील मंत्री की रात बमुश्किल कटी। लग्जरी लाइफ स्टाइल से जीने वाले डॉक्टर को जेल प्रबंधन ने अन्य कैदियों की तरह सोने के लिए दरी और कंबल दिया। बिना गद्दे के डॉक्टर को नींद नहीं आ रही थी।

वह देर रात तक जागता रहा। जिस पर बैरक के बाहर तैनात जेलकर्मियों ने फटकार लगाई तो चुपचाप कंबल ओढ़कर लेट गया, लेकिन सुबह तक उसकी नींद लग चुकी थी। जेल नियमों के तहत रविवार की सुबह जब सारे कैदी उठ चुके थे, तब डॉ. सुनील मंत्री सो रहा था। जेलकर्मियों ने उसे जगाकर बताया कि यहां अन्य कैदियों की तरह निर्धारित समय पर उठना होगा।

जेलकर्मियों ने उसे पीने का पानी एक मग में दिया तो डॉ. सुनील मंत्री ने अपना रसूख दिखाते हुए कहा कि 'मैं इतना बड़ा डॉक्टर हूं। मैं बिसलरी का पानी ही पीता हूं। मुझे बिसलरी दो।" इस पर जेलकर्मियों ने उसे बता दिया कि जो पानी सब कै दी पीते हैं, वही पानी पीना पड़ेगा। थोड़ी देर तक नाक-भौं सिकोड़ने के बाद डॉक्टर ने वही पानी पीया। उसने दूसरे कैदियों से कोई बात नहीं की।

बीपी, शुगर सब सामान्य

रिमांड अवधि के दौरान डॉ. सुनील का ब्लड प्रेशर और शुगर लेवल बढ़ गया था। शनिवार को जेल में दाखिल होते समय पुलिसकर्मियों ने जेल प्रबंधन को बता दिया था कि यह बीपी और शुगर का मरीज है। उसकी जरूरी दवाएं भी प्रबंधन को दे दी थीं। जेल प्रबंधन लगातार उसकी जांच करा रहा है। रविवार को उसका बीपी और शुगर लेवल सामान्य पाया। इधर, नवागत एसपी एमएल छारी ने पदभार संभालते ही सबसे पहले इसी मामले की पूरी जानकारी एसडीओपी मोहन सारवान और सिटी कोतवाली टीआई आशीष सिंह पवार से ली।

विशेष नजर रखी जा रही है

डॉ. सुनील मंत्री को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। उसकी हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। उसे जेल के नियम कायदों के बारे में बता दिया गया है। जो व्यवस्थाएं अन्य कै दियों के लिए की गई हैं, वही व्यवस्थाएं सुनील मंत्री के लिए हैं।

-ऊषा राज, जेल अधीक्षक, सेंट्रल जेल होशंगाबाद

Posted By: