सेना की रायफल लेकर भागे संदिग्धों के घरों पर छापा, हथियार सहित फरार हुए

- पुलिस और आर्मी ने पंजाब के जालंधर जिले के ग्राम मिआनी में मारा छापा

- पचमढ़ी के सेना शिक्षा कोर से दो संदिग्ध चुरा ले गए थे दो इंसास रायफल, 3 मैगजीन और 20 कारतूस

- पुलिस ने दोनों संदिग्धों के सीसीटीवी फुटेज जारी किए

होशंगाबाद। नवदुनिया प्रतिनिधि

पचमढ़ी स्थित सेना शिक्षा कोर से दो इंसास रायफल, 3 मैगजीन और 20 कारतूस चुराने वाले दोनों संदिग्धों को पकड़ने के लिए पुलिस, आर्मी इंटेलिजेंस और एटीएस ने पंजाब के जालंधर जिले के मियानी गांव में छापा मारा। लेकिन दोनों हथियार सहित पहले ही फरार हो गए। दोनों संदिग्धों की लोकेशन मिआनी गांव के ही बाहर मिली है, जहां पुलिस सर्चिंग कर रही है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक सोशल मीडिया के जरिए दोनों संदिग्धों के फु टेज मिल गए थे। पकड़ाने के डर से पहले ही भाग निकले। बताया जा रहा है कि दोनों संदिग्धों का परिवार भी गायब हो गया है। संदिग्ध जवान के दो घरों के बारे में जानकारी लगी है एक घर में पुलिस को ताला लगा मिला जबकि दूसरे घर में कि रायदार मिले हैं जिन्हें उसके बारे में कु छ जानकारी नहीं है। वहीं जांच एजेंसियों को हथियार चुराने वाले दूसरे संदिग्ध के बारे में भी जानकारी लग गई है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जवान के साथ जो युवक फुटेज में दिख रहा है वह गांव का ही एक कि सान है जो जवान का दोस्त है। दोनों को पकड़ने के लिए पंजाब पुलिस की भी एक टीम लगी हुई। एडीजी व होशंगाबाद रेंज आईजी आशुतोष राय का कहना है कि दोनों संदिग्धों को पकड़ने के लिए तकनीक का भी सहारा लिया जा रहा है, लेकि न दोनों पल-पल अपना लोके शन बदल रहे हैं।

भनक लगते ही हथियार लेकर हुए फरार

ग्राम मियानी में छापामार टीम में शमिल होशंगाबाद पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले दो दिनों से होशियारपुर के कई इलाकों में सर्चिंग कर रहे थे, लेकि न कु छ जानकारी नहीं मिल रही थी। सायबर सेल की टीम ने जब मोबाइल की लोके शन जालंधर के ग्राम मियानी में बताया तो टीम ने वहां छापामार कार्रवाई की, तब तक वे दोनों वहां से भाग चुके थे। इतना ही नहीं दोनों के परिवारों के सदस्य भी गायब हो गए।

पेशे से कि सान है जवान का साथी

जांच टीम में शामिल पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मियानी में जब कार्रवाई कर रहे थे तो इसी दौरान लोगों को दोनों संदिग्धों के फु टेज दिखाए गए। फु टेज देखने के बाद स्थानीय लोगों ने पहचान की और बताया कि दूसरा युवक भी मिआनी गांव का ही रहने वाला है और पेशे से कि सान है। पचमढ़ी स्थित सेना शिक्षा कोर से चुराई गई एक इंसास रायफल और कु छ कारतूस भी इसके पास है। पुलिस ने दूसरे युवक के घर पर छापामार कार्रवाई की, लेकि न उसका भी कोई सुराग नहीं लगा है।

ट्रेनिंग के दौरान अक्सर आता था पिपरिया

हथियार लेकर फरार होने वाले जवान ने वर्ष 2017-2018 में पचमढ़ी बैंड के साथ ट्रेनिंग ली थी। इस दौरान वह कई बार पिपरिया भी आ चुका है। वह पिपरिया व पचमढ़ी के कोने-कोने से वाकि फ था। सेना शिक्षा कोर के जिस गेट से उसने हथियार चुराए उसे अच्छे से पता है कि उक्त जगह सुनसान है, और यहां सिर्फ दो जवान ही तैनात रहते हैं। योजनाबद्ध तरीके से ही पिपरिया स्टेशन के पास से टैक्सी ली और फिर पचमढ़ी पहुंचे थे। फेंसिंग फांदकर जवान अंदर जा पहुंचा और फिर गेट पर खड़े दोनों जवानों को चकमा देने के लिए अंदर से बाहर की ओर आया। गेट पर तैनात जवान समझे कि वह आर्मी का अफसर ही है। इसी के चलते आरोपितों के झांसे में गेट पर तैनात जवान आ गए।

कि राया देने के लिए एटीएम से निकाले दो हजार रुपए

पुलिस की जांच में सामने आया है कि संदिग्धों ने दो एटीएम का उपयोग कि या था, लेकि न एक एटीम से रुपए नहीं निकले थे। दूसरे एटीएम से दो हजार रुपए निकाले। पिपरिया से पचमढ़ी तक जाने का कि राया 16 सौ रुपए तय कि या गया था। उन्होंने टैक्सी चालक से कहा था कि कु छ देर पचमढ़ी में रुकना होगा इसके बाद वापस आएंगे। पचमढ़ी पहुंचने के बाद संदिग्ध जवान फेंसिंग से कू दकर अंदर पहुंच गया, जबकि दूसरा संदिग्ध कार के पास ही खड़ा था।

संदिग्धों की तलाश कर रहे हैं

ट्रेनिंग के दौरान मिली सजा का बदला लेने की नियत से ही हथियार चुराने की बात सही है। दोनों संदिग्धों के पुश्तैनी ग्राम मिआनी में पुलिस टीम ने अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर छापामार कार्रवाई की है। दोनों का फिलहाल कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। दूसरे संदिग्ध की पहचान भी स्थानीय लोगों ने कर ली है। जल्द ही उन्हें पकड़ लिया जाएगा।

- आशुतोष राय, एडीजी व आईजी होशंगाबाद रेंज

9एचओएस1 -

होशंगाबाद। पुलिस ने जारी किए दोनों संदिग्धों सीसीटीवी फुटेज

9एचओएस2

होशंगाबाद-वह कार जिससे दोनों संदिग्ध पिपरिया से पचमढ़ी पहुंचे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket