इटारसी(ब्यूरो)। हरदा के पास हुए रेल हादसे के बाद किस्मत और मानसून भी रेलवे का साथ नहीं दे रहा है। सोमवार देर रात जैसे-तैसे अप ट्रेक शुरू किया गया था, लेकिन गरीबरथ और मालगाड़ी निकलने के बाद यहां ओएचई लाइन का पोल धंसने की वजह से फिर रूट बाधित हो गया। इस हादसे से चंद घंटे पहले इटारसी से मुबंई की ओर रवाना हुई सचखंड, झेलम एवं हावड़ा मेल घटना के बाद 70 किमी. का फासला तय कर उल्टे पहियों वापस इटारसी लाई गईं। इस वजह से तीनों ट्रेनों के हजारों यात्री जंगल में चार-पांच घंटे फसे रहे। तीनों ट्रेनों को इटारसी लाकर डायवर्ट रूट से गंतव्य की ओर रवाना किया गया। इधर मुबंई से इटारसी आ रही पंजाबमेल, झेलम, दादर-बनारस, महानगरी, हावड़ा समेत अन्य ट्रेनों को भी वापस लेकर डायवर्ट रूट से इटारसी लाया गया। इस घटना के बाद रेलवे द्वारा नए सिरे से मौके पर काम शुरू कराया गया है। मंगलवार को भारी बारिश के चलते रेलवे को काम करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

लगाए गए अतिरिक्त पॉवर

तीनों ट्रेनों को बेक लेने के लिए इटारसी से पॉवर भेजा गया। एक ही रूट चालू होने की वजह से मौके पर पॉवर चेंज करना संभव नहीं था। इसे देखते हुए तीनों ट्रेनों में यहां से पॉवर भेजकर उन्हें वापस खींचा गया।

पूरे जोन में अफरा-तफरी

सोमवार रात अप ट्रेक चालू होने का मैसेज पूरे जोन में भेजा गया। फील्ड पर काम कर रहे अधिकारियों को अपने सीनियर्स से वैरीगुड के मैसेज मिलने लगे, लेकिन अधिकारियों की यह खुशी ज्यादा देर नहीं टिकी और वॉकी-टॉकी पर हरदा से मैसेज चला कि अप ट्रेक फिर बाधित हो गया है। हालात का जायजा लेने के लिए मंगलवार को जोन महाप्रबंधक रमेश चंद्रा भी राजकोट एक्सप्रेस से इटारसी होकर हरदा पहुंचे। डीआएम आलोक कुमार समेत मंडल के सारे अधिकारी देर रात हरदा पहुंच गए थे।

क्या है मामला

सोमवार रात 11ः50 मिनट पर हावड़ा-मुबंई मेल यहां से रवाना की गई। इसके बाद मंगलवार तड़के 5ः45 मिनट पर यहां से झेलम एवं 6ः25 मिनट पर सचखंड एक्सप्रेस प्रापर रूट पर चलाई गई। तीनों गाड़ियों से पहले ट्रायल के रूप में जबलपुर-मुबंई गरीब रथ एवं एक गुड्स रैक मुबंई रवाना हुआ। दोनों गाड़ियां अप ट्रेक से आगे बढ़ गईं, लेकिन इसके बाद ओएचई पोल गिर गया। हादसे के बाद मैसेज इटारसी पहुंचा कि यातायात फिर बाधित हो गया है इसलिए अब ट्रेनें न भेजी जाएं। हरदा से पहले सचखंड एक्स. को चारखेड़ा स्टेशन पर करीब 3ः30 घंटे खड़ा रखा गया। दोपहर 12ः39 पर प्लेटफार्म एक पर सचखंड, दोपहर 1 बजे दो नंबर पर झेलम एवं इसके बाद हावड़ा मेल को बेक लेकर नागपुर की ओर से भुसावल चलाया गया। सचखंड के पॉयलेट जेडी पंथी ने बताया कि सुबह 8ः11 मिनट पर चारखेड़ा स्टेशन पर ट्रेन रूकी, इसके बाद ट्रेन को वापस लेने का मैसेज आया।

ऊपर से है भारी दबाब

अधिकारिक सूत्रों की मानें तो इस हादसे के बाद जल्द ही ट्रेफिक सुचारू करने के लिए रेलमंत्री, रेलवे बोर्ड से जोन के अधिकारियों पर भारी दबाब है। इसे लेकर रेलवे के आला अधिकारी 24 घंटे बेपटरी हुए यातायात को सुचारू करने में दिन-रात एक कर रहे हैं।

यात्रियों की हुई फजीहत

हावड़ा, सचखंड और झेलम के यात्रियों को इटारसी आकर खुशी हुई कि वे मूल ट्रेक से जल्दी अपने गंतव्य तक पहुंच जाएंगे लेकिन हरदा स्टेशन से पहले एक के बाद एक उनकी गाड़ियां आउटर पर रोक दी गईं। सुबह यहां से रवाना हुई ट्रेनों के यात्री जंगल एवं छोटे स्टेशनों पर घंटों फसे रहे। यहां चाय-नाश्ता तक नसीब नहीं हुआ। अमृतसर से हुजूर नांदेड़ जा रहे कृष्णगोपाल ने बताया कि उन्हें बुधवार को नांदेड़ पहुंचना था लेकिन चार घंटे गाड़ी फसी रही, अब बेक होकर आठ घंटे का लंबा फेर नागपुर होकर लगाना पड़ेगा। दिल्ली से नांदेड़ जा रहे डीडी पांडेय ने बताया चार घंटे जंगल में ट्रेन खड़ी रही। कोच में सवार महिलाओं और बच्चों की हालत खराब हो गई। ट्रेन चलने के इतंजार में फसे यात्रियों को पता चला कि अब ट्रेन वापस इटारसी आएगी। सुबह यहां से निकले तीनों ट्रेनों के यात्रियों को चार घंटे बाद फिर इटारसी आना पड़ा।

वापस लेना पड़ा

देर रात अप रूट क्लियर हो गया था। यहां से गरीब रथ एवं एक मालगाड़ी भुसावल के लिए रवाना की गई। इसके बाद रूट बाधित हो गया। यहां से रवाना हो चुकीं सचखंड, झेलम और हावड़ा को बेक लेकर डायवर्ट रूट से चलाया गया। फिलहाल सभी ट्रेनें नागपुर होकर ही चलेंगी।

वायएस बघेल, स्टेशन प्रबंधक।

------------

आज ये ट्रेनें नहीं आएंगी

01655 पुणे जबलपुर

11015 लोतिट गोरखपुर

11016 गोरखपुर लोतिट

11056 गोरखपुर लोतिट

11057 मुंबई अमृतसर

11072 वाराणसी लोतिट

11077 पुणे जम्मू तवी

11078 जम्मूतवी पुणे

11407 पुणे लखनऊ

12108 लखनऊ लोतिट

12137 मुंबई फिरोजपुर

12138 फिरोजपुर मुंबई

12141 लोतिट राजेंद्र नगर

12147 साहुम्हराज निजामुददीन

12149 पुणे पटना

12150 पटना पुणे

12166 वाराणसी लोतिट

12172 हरिद्वार लोतिट

12173 लोतिट प्रतापगढ़

12188 मुंबई जबलपुर

12294 इलाहाबाद लोतिट

12321 हावड़ा मुंबई

12322 मुंबई हावड़ा

12486श्री गंगानगर नांदेड़

12533 लखनऊ मुंबई

12541 गोरखपुर लोतिट

12542 लोतिट गोरखपुर

12597 गोरखपुर मुंबई

12627 बैंगलोर नई दिल्ली

12628 नई दिल्ली बैंगलोर

12779 वास्कोडिगामा निजामुददीन

12780 निजामुददीन वास्कोडि गामा

13201 राजेंद्र नगर लोतिट

13202 लोतिट राजेंद्र नगर

15101 छपरा मुंबई

15268 लोतिट रक्साल

15648 गोहाटी लोतिट

17019 अजमेर हैदराबाद

22104 फैजाबाद लोतिट

22109 लोतिट निजामुददीन

11078 जम्मूतवी पुणे

22455 श्रीनगर शिर्डी कालका

आज ये परिवर्तित होकर निकलेंगी ट्रेनें

11058 अमृतसर मुंबई - व्हाया मथुरा नागदा वसाई रोड

11059 लोतिट छपरा - व्हाया भुसावल नागपुर इटारसी

11065 लोतिट दरभंगा - व्हाया भुसावल नागपुर इटारसी

11066 दरभंगा लोतिट - व्हाया इटारसी नागपुर भुसावल

11069 लोतिट इलाहाबाद - व्हाया जलगांव सूरत नागदा भोपाल

11071 लोतिट वाराणसी - व्हाया भुसावल बडनेरा नारखेड़ इटारसी

11093 मुंबई वाराणसी - व्हाया भुसावल नागपुर इटारसी

11094 वाराणसी मुंबई - व्हाया इटारसी नारखेड़ बडनेरा भुसावल

12142 राजेंद्र नगर लोतिट - व्हाया इटारसी नारखेड़ बडनेरा भुसावल

12167 लोतिट वाराणसी - व्हाया भुसावल बडनेरा नारखेड़ इटारसी

12168 वाराणसी लोतिट - व्हाया इटारसी नारखेड़ बडनेरा भुसावल

12174 प्रतापगढ़ लोतिट - व्हाया निशातपुरा नागदा सूरत जलगांव

12335 भागलपुर लोतिट - व्हाया इटारसी नागपुर भुसावल

12336 लोतिट भागलपुर - व्हाया भुसावल नागपुर इटारसी

12534 मुंबई लखनऊ - व्हाया वसाई रोड बडोदरा नागदा भोपाल

12617 एर्नाकुलम निजामुददीन - व्हाया वसाई रोड बडोदरा नागदा मथुरा

12618 निजामुददीन एर्नाकुलम - व्हाया मथुरा नागदा वसाई रोड

12629 यशवंतपुर निजामुददीन - व्हाया जलगांव सूरत नागदा मथुरा

12715 नांदेड़ अमृतसर - व्हाया पूरना अकोला नागपुर इटारसी

12716 अमृतसर नांदेड़ - व्हाया इटारसी नागपुर अकोला पूरना

15017 लोतिट गोरखपुर - व्हाया जलगांव सूरत नागदा भोपाल बीना कटनी

15018 गोरखपुर लोतिट - व्हाया इटारसी नागपुर भुसावल

16229 मैसूर वाराणसी - व्हाया वाडेगांव सिकंद्राबाद बल्हारशाह नागपुर इटारसी

19046 छपरा सूरत - व्हाया कटनी बीना भोपाल नागदा

19047 सूरत भागलपुर - व्हाया भुसावल नागपुर इटारसी

22686 चंडीगढ़ यशवंतपुर - व्हाया निशातपुरा नागदा वसाई रोड पुणे

---------

एसी शेड में इंजन पटरी से उतरा

इटारसी। मंगलवार सुबह विद्युत लोको शेड में शंटिंग के दौरान एक इंजन पटरी से उतर गया। घटना के बाद मशक्कत के बाद इंजन को पटरी पर ले लिया गया। बताया गया कि घटना के बाद यहां का हूटर भी बजा था। डिरेल हुआ इंजन कथित रूप से कंडम बताया गया है। इस इंजन को शटिंग के लिए उपयोग में लिया जा रहा है।

------------

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस