पेज 16 की लीडः

मनमर्जीः दुकानदार परेशान, सड़कों पर लगता है जाम, नगर पालिका नहीं ले रही एक्शन

इटारसी। नवदुनिया प्रतिनिधि

शहर के मुख्य बाजार की सड़कों पर चलित हाथठेलों पर लगने वाला फल बाजार शहर की यातायात व्यवस्था बिगाड़ रहे हैं। नगर पालिका ने करीब 24 लाख रुपये खर्च कर जो चबूतरे बनाए थे, वहां मवेशी बांधे जा रहे हैं। चबूतरे लेने के बावजूद फल कारोबारी यहां नहीं बैठ रहे हैं। भारत टॉकीज से लेकर जयस्तंभ और चिकमंगलूर चौराहे से लेकर पहली लाइन तक फल बाजार लग रहा है।

करीब दो साल पहले सब्जी बाजार से लगे क्षेत्र में लाखों रुपये की लागत से शेड एवं चबूतरे नपा ने बनाकर फल विके्‌रताओं को लॉटरी के जरिए आवंटित किए थे, परंतु आज तक एक भी फल विक्रेता ने चबूतरों पर दुकान नहीं लगाई। यहां सब्जी विक्रेताओं का कबाड़ रखकर मवेशी बांधने का काम हो रहा है।

व्यापारी हो रहे परेशानः भारत टॉकीज से लेकर कपड़ा बाजार, जय स्तंभ चौक, द्वारकाधीश मंदिर से लेकर रेलवे स्टेशन रोड और नीमवाड़ा से बस स्टैंड तक चलित ठेले लगते हैं। इस वजह से सड़क जाम होती है, साथ ही दुकानदारों को भी तकलीफ उठाना पड़ती है।

व्यापारी कर चुके मांगः संयुक्त व्यापार महासंघ का कहना है कि इन फल विक्रेताओं के कारण उनकी दुकानों के सामने भीड़भाड़ रहती है और जाम लगता है। फल बाजार अपने स्थाई ठिकाने पर लगाने की मांग को लेकर पुलिस प्रशासन एवं नपा को ज्ञापन भी दिए गए थे। अधिकारियों ने कहा फल बाजार को अपनी जगह भेजेंगे। आज तक इस मामले में कार्रवाई नहीं हुई।

24 लाख रुपये में बनाए थे 62 चबूतरे

सब्जी मंडी में 24 लाख से बने 62 चबूतरे खाली हैं। विधायक डॉ. सीतासरन शर्मा भी कई बार प्रशासन को शहर से ठेले हटा कर सब्जी मंडी के चबूतरों में लगाने की नसीहत दे चुके हैं। उन्होंने बाजार क्षेत्र को व्यवस्थित करने कई बार नपा अधिकारियों और पुलिस प्रशासन की बैठक ली, लेकिन नपा अतिक्रमण नहीं हटा पाई। सितंबर 2019 में 62 चबूतरों वाले फल बाजार का लोकार्पण हो चुका है।

व्यापारियों का आरोप है कि इस समस्या पर शहर में हमेशा से राजनीति हो रही है। जब कार्रवाई होती है तो इस कारोबार से जुड़े रसूखदार लोग दबाव डालकर एवं नपाकर्मियों पर पैसे लेकर ठेले लगाने जैसे आरोप लगाकर मामले को विवाद में डालते हैं।

अकेले बैठकर कैसे होगा धंधाः

इधर फल विक्रेताओं में भी तय जगह बाजार लगाने को लेकर मतभेद हैं। कुछ लोगों का कहना है कि वहां अच्छी ग्राहकी नहीं होती। कुछ विक्रेताओं ने बताया कि प्रशासन पूरे बाजार में सामूहिक कार्रवाई नहीं करता। जब सारे विक्रेता वहां बैठेंगे तो हम भी चले जाएंगे। अकेले वहां बैठकर कैसे धंधा होगा। प्रशासन खुद ही सख्ती कर बाजार शिफ्ट कराए तो सभी को वहां जाना पड़ेगा।

वर्जन

बीच सड़क ओर पार्किंग एरिया में लगने वाले फलों के ठेले हम हटाते हैं, कई बार इन पर जुर्माना भी किया गया है। नपा इस मामले में कार्रवाई का प्रयास करे तो सभी विक्रेता एक निश्चित जगह बाजार लगा सकते हैं।

नागेश वर्मा, यातायात प्रभारी।

वर्जन

राजस्व विभाग से फल विभाग के चबूतरों की जानकारी ली जाएगी। फल बाजार को यहां लाने में क्या दिक्कतें हैं, इसकी बात कर प्रयास करेंगे कि बाजार सही ढंग से लगे, जिससे सड़कों पर अव्यवस्था न हो।

हेमेश्वरी पटेल, सीएमओ।

-------------

फोटो 16एचओएस12 इटारसी। नपा द्वारा बनाया गया फल बाजार, जहां सारे चबूतरे खाली पड़े हैं।

फोटो 16 आईटी 13 इटारसी। इस तरह शहर की सड़कों पर फलों के ठेले लग रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020