होशंगाबाद। गृह विज्ञान महाविद्यालय में पांच दिवसीय स्टार्टअप प्रोग्राम का आयोजन किया गया। जिसका समापन शुक्रवार को किया गया। प्राचार्य डॉ कामिनी जैन ने बताया कि इस वर्ष कोविड.19 महामारी के कारण छात्राओं का मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित हुआ है। ऐसे समय में हार्टफुलनेस संस्था के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम से छात्राओं में सकारात्मक सोच विकसित करने का प्रयास किया जा रहा है। आज के समय में मानसिक स्थिरता की अत्यंत आवश्यकता है और इस उद्देश्य की पूर्ति हार्टफुलनेस ध्यान द्वारा संभव है। उन्होंने कहा कि आज समाज को परिवर्तन की आवश्यकता है । इस परिवर्तन में हार्टफुलनेस संस्था का योगदान निश्शुल्क रूप से दिया जा रहा है।

इस कार्यक्रम में लगभग 200 से अधिक छात्राओं ने गूगल से फॉर्म के माध्यम से रजिस्ट्रेशन किया और ऑनलाइन कार्यक्रम अटेंड किया। पांच दिवसीय इस कार्यक्रम में प्रथम दिन कनेक्ट विषय पर सुहागपुर से राम किशोर दुबे ने अपने विचार प्रस्तुत किए । इसमें उन्होंने बताया कि स्वयं सेए अपने शिक्षकों से और अपने सहपाठियों से कैसे जुड़े। कार्यक्रम के दूसरे दिन इंदौर से सुंदरी शर्मा ने बताया के स्वयं के भीतर छुपे मूल्यों को कैसे पहचाने और अपनी आंतरिक शक्ति को महसूस करें तथा जीवन में आगे बढ़ने के लिए इसका उपयोग करें।

तृतीय दिवस पर बैतूल से रोहित बघेल ने बताया कि हम सभी किस प्रकार अपने आसपास के वातावरण को और धरती को प्रभावित कर रहे हैं। हमें अपनी प्रकृति को सुरक्षित रखने के लिए अपनी जीवनशैली को परिवर्तित करना होगा। चौथे दिन होशंगाबाद से विनय पालीवाल ने चॉइस विषय पर छात्राओं से चर्चा की और यह बताया कि हम सबके जीवन में चयन की स्वतंत्रता कितनी महत्वपूर्ण है। छात्राओं को हार्टफुलनेस ध्यान जीवन उचित चयन करने में मदद करेगा। दिल और दिमाग के मेल से सोचने में हम सक्षम हो सकेंगे।

शुक्रवार को महाविद्यालय पिपरिया से डॉक्टर कमल वाधवा गणित के प्राध्यापक उपस्थित हुए उन्होंने छात्राओं से कॉजेलिटी कारण विषय पर चर्चा की। हमारे एक निर्णय से आसपास के लोगों पर क्या प्रभाव पड़ता है और किसी दूसरे के निर्णय से हमारे ऊपर क्या प्रभाव पड़ता है इस पर प्रकाश डाला। परिवर्तन होना हमारे व्यवहार की पहचान है। हार्टफुलनेस संस्था द्वारा पांच दिवसीय कार्यक्रम में छात्राओं को जीवन मूल्य से परिचित कराया गया। यह संस्था पूर्णता निश्शुल्क कार्य करती है। आगामी दिनों में इसके दो कार्यक्रम डिस्कवर.1 और डिस्कवर.2 संभावित हैं। छात्राओं की रूचि को देखते हुए भविष्य में इन कार्यक्रमों का आयोजन होगा और छात्राओं को समय पर सूचित किया जाएगा।

यह कार्यक्रम ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर संपन्ना हुआ जिसमें छात्राओं ने खुलकर संचार किया और संवाद के माध्यम से शिक्षाओं को अपने भीतर उतारने की कोशिश का प्रण किया ।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags