आशीष दीक्षित, नवदुनिया प्रतिनिधि।

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की सुरक्षा में तैनात छह हाथी अब एक सप्ताह तक कोई काम नहीं करेंगे, बल्कि पिकनिक मनाएंगे। हाथियों के मनोरंजन के साथ भोजन का पूरा इंतजाम किया गया है। हाथियों के साथ रहने वाले महावत भी अपने अनुभव साझा करेंगे। हाथियों को उनका पसंदीदा भोजन गन्नाा, मक्का, केले, पपीते, सेब, नारियल, गुड़ की व्यवस्था सतुपड़ा टाइगर रिजर्व प्रबंधन की ओर मुहैया कराई गई हैं। वर्ष भर सतपुड़ा टाइगर रिजर्व की सुरक्षा करने वाले हाथियों को एक सप्ताह का आराम दिया गया है।

यह है हाथियों का समूहः सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक एल कृष्णमूर्ति ने बताया कि बागड़ा बफर में वर्तमान में छह हाथी है। 4 साल हाथी विक्रम, अनुभवी सिद्धनाथ के साथ हैं लक्ष्‌मी, स्मिता, अन्जुगम हैं। इन हाथियों का आपस में तालमेल भी बेहतर है। किसी भी रेस्क्यू ऑपरेशन किसी बाघ को काबू में करना हो या फिर जंगल के दुर्गम स्थान पर गश्त करनी हो। इन सभी कार्यों में हाथियों को महारत हसिल है। विक्रम हाथी बेहद शरारती है तथा पर्यटकों के मध्य बेहद लोकप्रिय है। वह सभी हाथियों का लाड़ला भी है और गन्नाा, केले बड़े चाव से खाता है।

शिविर का शुभारंभ : आज सतपुड़ा टाइगर रिर्व के अंतर्गत बागड़ा बफर में प्रतिवर्ष कि भांति सात दिवसीय हाथी पुनर्योवनीकरण शिविर का शुभारंभ किया गया। क्षेत्र संचालक ने पहले हाथियों का पूजन किया, माला पहनाई फिर तिलक किया। इस उत्सव भरे माहौल में हाथियों की खूब सेवा की जाती है जिसमे विशेष खुराक, मालिश, पूरा आराम और ढेर सारी मस्ती यानि कि पूरा पिकनिक जैसा माहौल बन जाता है। सात दिन बीतने के बाद सभी हाथियों को उनकी जिम्मेदारी दी जाएगी। सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में शिकारी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के साथ गश्त भी करना शुरू कर देंगे।

स्वास्थ्य का रखा जाएगा ध्यान

हाथियों को पूर्ण आराम दिया जाएगा व किसी तरह का काम नहीं लिया जाएगा। हाथियों का पूर्ण स्वास्थ्य परीक्षण, उनके शरीर कि नाप जोख व रक्त, मल, मूत्र आदि की जांच स्कूल फॉर वाइल्डलाइफ फॉरेंसिक एंड हेल्थ जबलपुर के विशेषज्ञों के द्वारा की जाएगी। हाथी महावतों की जांच भी अनुभवी चिकित्सकों के द्वारा की जाएगी। वर्ष भर हाथी अपने महावतों के साथ अलग अलग क्षेत्रों में गश्ती करते रहते हैं तथा अन्य साथियों से मिल नहीं पाते हैं।

महावत करेंगे अनुभव साझा

क्षेत्र संचालक के मुताबिक हाथियों तथा महावतों सभी को एक दूसरे से मिलने का, साथ समय बिताने का, साथ खाने का, खेल कूद आदि का मौका मिलता है जो कि मनोविज्ञानिक रूप से सभी के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध होता है। हाथी महावत भी अपने वर्ष भर के अनुभव एक दूसरे से साझा करते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local