नर्मदापुरम (होशंगाबाद) नवदुनिया प्रतिनिधि

विजयादशमी का पर्व दशहरा आज धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। रामलीला समिति के द्वारा शताधिक वर्षों की परंपरा के चलते 14 दिवसीय रामलीला का आयोजन किया जा रहा है। रामलीला का संयोजन इस प्रकार होता आ रहा है कि दशहरे के दिन राम रावण युद्ध की लीला होती है। राम द्वारा रावण पर विजय प्राप्त करने पर विजयादशमी का पर्व मनाया जाता है। इस दौरान रावण चलायमान पुतले का दहन किया जाता है, लेकिन कोरोना के कारण पिछली बार रामलीला का आयोजन सिर्फ 10 दिन किया गया था। पुतले भी पूर्व की अपेक्षा कम ऊंचाई वाले रखे गए हैं, जिससे परंपरा कायम रहे।

तीन दिन होती है दशहरा मैदान पर रामलीलाः दशहरा मैदान में तीन दिन रामलीला होती है। जिसमें पहले दिन कुंभकरण वध की लीला होती थी। बीते वर्ष तीन दिन की लीला एक ही दिन हुई थी। इस बार तीन दिन ही रामलीला मैदान पर हो रही है। गुरुवार को कुंभकरण और मेघनाथ वध की लीला की गई। पूर्व में तीन दिन तक अलग-अलग पुतलों का दहन होता था। लेकिन इस बार कुंभकरण और मेघनाथ के पुतले का दहन एक साथ हुआ। अब शुक्रवार को राम-रावण युद्ध के बाद रावण के पुतले का दहन होगा। इस रामलीला को देखने के लिए आसपास ग्रामीण अंचल से करीब 15 हजार दर्शक मैदान में बैठकर आनंद लेते हैं। रामलीला समिति के द्वारा दशहरा मैदान पर पूरी व्यवस्था की गई है। नगर पालिका, जिला प्रशासन के द्वारा भी रामलीला मैदान पर आवश्यक व्यवस्थाएं की जाती है। पुलिस प्रशासन के द्वारा सुरक्षा की दृष्टि से बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया जाता है।

दशहरा मैदान पर लगेगा मेला : दशहरा के अवसर पर हर वर्ष की तरह रामलीला मैदान परिसर के बाहर दूर-दूर तक बच्चों के पसंद की सामग्री की दुकाने लगती हैं। इसके अलावा घर की सजावट संबंधी और सोना पत्ती की दुकानें लगने से पूरे मैदान के पास मेला जैसा माहौल हो जाता है। बड़े उत्साह के साथ लोग इस उत्सव में शामिल होने के लिए आते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local