इटारसी नवदुनिया प्रतिनिधि।

राष्ट्रीय राजमार्ग से तवानगर जाने वाला करीब 20 किमी. लंबा मार्ग एक साल से बदहाल है। अफसरों और ठेकेदार की लापरवाही से रोजाना करीब आधा दर्जन गांव की दस हजार आबादी इस मार्ग से परेशान हो रही है। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले डेढ़ साल से सड़क का काम अटका हुआ है, लेकिन सिंचाई विभाग के अफसर लगातार गोलमोल जबाव दे रहे हैं।

यहां तक कि अफसरों ने सिवनी मालवा विधायक प्रेमशंकर वर्मा को भी गुमराह करने का प्रयास किया। 5 फरवरी को जब वर्मा यहां जनसमस्या निवारण शिविर में वर्मा आए थे, तब ग्रामीणों ने इस समस्या को लेकर चर्चा की। अफसरों ने विधायक से कह दिया कि जल्द सड़क का काम शुरू करा देंगे, लेकिन अब कहा जा रहा है कि ठेकेदार का भुगतान रुका है और रोड निर्माण की मियाद भी खत्म हो चुकी है। इसके लिए अतिरिक्त समय और बजट मांगा गया है, इसकी मंजूरी के बाद ही काम शुरू होगा।

यह है योजनाः

राष्ट्रीय राजमार्ग से तवानगर तक करीब बीस किलोमीटर का मार्ग करीब साढ़े छह करोड़ रुपए की लागत से बनना है। ठेकेदार को लगभग साठ लाख रुपये का भुगतान होना था, जो नहीं मिला तो उसने काम ही बंद कर दिया। अफसरों ने लापरवाही दिखाई तो ठेकेदार ने अपना मटेरियल और मशीनें भी यहां से हटा लीं। इस चक्कर में सड़क निर्माण के तय डेडलाइन भी खत्म हो गई। अब दोबारा काम शुरू करने के लिए नए सिरे से बजट और डेडलाइन लेने के लिए अफसर परेशान हो रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि 30 मई तक काम पूरा कराने के लिए ठेकेदार को कहा गया है। ठेकेदार का जो भुगतान अटका है, वह होने के बाद ही काम शुरू होगा। जानकारी के अनुसार ठेकेदार ने करीब ढाई किलोमीटर का कांक्रीट वर्क कर दिया था और सड़क किनारे नाली का काम भी किया है। वन विभाग ने नाली निर्माण में जो आपत्ति ली थी, वह भी हट गई है, लेकिन अधिकारी इस मामले में फसे पेंच को हटाने में नाकाम साबित हुए हैं।

हालत है खराबः

राष्ट्रीय राजमार्ग से तवानगर पहुंच मार्ग तक सड़क बुरी तरह खराब हो चुकी है। तवा रिसोर्ट आने वाले सैलानी भी इसी मार्ग से पहुंचते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि ठेकेदार को यदि जल्द ही रूका हुआ पैसा नहीं दिया गया तो फिर काम शुरू करने में परेशानी आएगी। निर्माण सामग्री की कीमतें भी तेजी से बढ़ रही हैं। ऐसी हालत में आगामी बारिश में भी तकलीफ होगी। आए दिन सड़कों पर गड्डे होने के कारण सड़क हादसे हो रहे हैं। रानीपुर ग्राम पंचायत, चीचापानी, तवानगर समेत आधा दर्जन गांव इसी मार्ग से लगे हैं। तवानगर में स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं है, ऐसी हालत में मरीजों को भी इलाज के लिए इटारसी आना पड़ता है।

भुगतान रूका हैः

ठेकेदार का कुछ भुगतान रूका हुआ है, इसके लिए उच्च स्तर पर बात की गई है। तीन माह पहले हमने बिल भेजे थे। अब अतिरिक्त समय मांगा गया है। जल्द ही यह काम शुरू कराया जाएगा। पैसा रूकने के कारण ठेकेदार ने अपना मटेरियल और मशीन प्लांट भी यहां से हटा लिया था।

एनके सूर्यवंशी, एसडीओ तवा परियोजना।

सुनवाई नहीं हुईः

5 फरवरी को आयोजित शिविर में विधायक के समक्ष अधिकारियों ने जल्द काम शुरू कराने को कहा था, लेकिन करीब महीना भर बीत रहा है और काम शुरू नहीं हुआ। इस वजह से हजारों ग्रामीण परेशान हो रहे हैं। सड़क की हालत खराब हो चुकी है। तवा रिसोर्ट आने वाले सैलानी भी परेशान होते हैं। जल्द काम चालू नहीं हुआ तो आंदोलन करेंगे।

भूपेश साहू, पंच तवानगर पंचायत।

0000000000

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags