MP News: नर्मदापुरम (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नाबालिग के अपहरण और दुष्कर्म के आरोपित ने सजा सुनाए जाने के बाद जहर खाकर खुदकुशी कर ली। आरोपित को दोषी पाते हुए न्यायालय ने शुक्रवार को 20 साल की सजा सुनाई थी। पुलिस लाइन के जवान उसे केंद्रीय जेल लेकर जा रहे थे। जेल के सामने पहुंचते ही अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई और उल्टियां होने लगी। तभी उसने पुलिसकर्मियों को बताया कि उसने जहर खा लिया है। पुलिसकर्मी उसे तुरंत जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां से स्वजन के कहने पर शहर के एक निजी अस्पताल ले गए। उपचार के दौरान आरोपित ने दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी लगने के बाद देर रात प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट अस्पताल पहुंची और ड्यूटी पर तैनात पुलिस जवानों के बयान लिए।

जानकारी के अनुसार ग्राम रायपुर निवासी राजा कहार (24) पर आरोप था कि 4 जुलाई 2020 को उसने नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म किया। आरोपित राजा कहार जमानत पर था। और एक पेट्रोल पंप पर काम करता था। शुक्रवार को उसकी अंतिम पेशी थी। उसे सजा सुनाए जाने का आभास पहले ही हो चुका था। आखिरी पेशी होने के बाद उसे विशेष न्यायाधीश ने 20 साल की सजा सुनाई।

पुलिस लाइन से आया था बल

न्यायालय से सजा सुनाए जाने के बाद पुलिस लाइन का बल आरोपित राजा को केंद्रीय जेल दाखिल कराने के लिए आया हुआ था। सुरक्षा के बीच आरोपित को जेल ले जाया जा रहा था। शाम करीब 7.30 से उसकी तबीयत बिगड़ गई। राजा ने पुलिस कर्मियों को बताया कि उसने पहले ही जहर खा लिया था। पुलिस जवान उसे लेकर निजी अस्पताल लेकर पहुंचे जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

स्वजन लगा रहे आरोप

राजा के मामा रामप्रसाद कहार का कहना है कि उन्होंने पुलिस अभिरक्षा में स्वस्थ छोड़कर आए थे। कुछ ही देर बाद फोन आया कि राजा की हालत गंभीर है अस्पताल आ जाओ। रामप्रसाद का कहना है कि पुलिस की मौजूदगी के बावजूद राजा के पास जहर कहां से आया।

जांच की जा रही है

सिटी कोतवाली में केस दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। मृतक के पास जहर कहां से आया इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। - संतोष सिंह चौहान, टीआइ, सिटी कोतवाली

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close