हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

लगातार जारी बारिश के कारण अभी जनजीवन पटरी पर नहीं लौट रहा है। बुधवार को भी बारिश का दौर जारी रहा। पिछले चार सालों से जिले में सामान्य बारिश भीे नहीं हो रही थी। जिससे जिले में जलसंकट की स्थिति बन रही थी। हांलाकि इस बार सामान्य से अधिक बारिश हो चुकी है। जिसमें जिले में टिमरनी विकासखंड में सबसे अधिक बारिश रिकार्ड की गई है। जिले में चालू मानसून मौसम के दौरान गत एक जून से अब तक 1505.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। गत वर्ष की इसी अवधि की औसत वर्षा 702.6 मिमी है। अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि अभी तक हरदा में 1442.7 (गत वर्ष 757.0) मिमी, टिमरनी में 1946.8 (गत वर्ष 692.8) मिमी, खिरकिया में 1126.4 मिमी (गत वर्ष 658.2) मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिले की सामान्य वर्षा 1261.7 मिमी है। पिछले 24 घंटों में हरदा में 18.3 मिमी, टिमरनी में 16.0 मिमी, खिरकिया में 70.0 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। भू अभिलेख शाखा का कहना है, कि अभी बारिश का दौर लगातार जारी रहेगा। वहीं प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बुधवार को भी कलेक्टर ने स्कूलों का अवकाश घोषित किया, लेकिन हरदा में स्कूलों की छुट्टी को लेकर कोई निर्देश नहीं दिए गए। वहीं बारिश के कारण बुधवार को कई ग्रामीण अंचलों से जिला मुख्यालय का संपर्क टूटा रहा। बारिश के कारण खेतों में फसलें खराब होना शुरू हो गई है।

---------

पोषण माह अंतर्गत जिला स्तरीय वृहद पोषण सभा कल

हरदा। जिला कार्यक्रम अधिकारी संजय त्रिपाठी ने बताया कि जिले में बधाों, किशोरी बालिकाओं के बेहतर स्वास्थ्य-पोषण के लिए विभाग द्वारा बधाों में ठिगंनापन (स्टंटिंग), अल्प पोषण, खून की कमी (एनीमिया) तथा जन्म के वक्त कम वजन वाले शिशुओं की संख्या में उत्तरोत्तर कमी लाए जाने के लिए राष्ट्रीय पोषण माह चलाया जा रहा है। इसी परिपेक्ष्य में पोषण माह को जन आंदोलन का रूप देने एवं जागरूकता लाने के उद्देश्य से शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में 13 सितम्बर को दोपहर 12 बजे से वृहद पोषण मेले का आयोजन किया जा रहा है।

---------

गांधी जयंती पर ग्राम पंचायत विकास योजना के लिए जन अभियान

सबकी योजना-सबका विकास की तर्ज पर तैयार होगा प्लान

हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

जिले की ग्राम पंचायतों में वर्ष 2020-21 तक के लिए ग्राम पंचायत विकास योजना बनाई जाएगी। इसके अंतर्गत पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सबकी योजना-सबका विकास की तर्ज पर दो अक्टूबर गांध्ी जयंती से 31 दिसम्बर तक प्रदेश में जन अभियान चलाया जाएगा। अभियान में पंचायतों में 29 विषयों से संबंधित विभाग भागीदारी करेंगे। अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्रीमती गौरी सिंह ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया है, कि सभी ग्राम पंचायतों में यह अभियान 2 अक्टूबर को ग्राम सभाओं से प्रारम्भ होगा। ग्राम सभाएं दो चरणों में होगी। पंचायतों में सौंपे गए 29 विभागों के मैदान कर्मी ग्राम का सर्वे कर ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार करेंगे। बनाई गई योजना को ग्राम सभा में अनुमोदन के बाद भारत सरकार के विभागीय पोर्टल पर अपलोड कराना होगा। अभियान के लिए जिला स्तर पर कलेक्टर को नोडल अधिकारी नामांकित किया गया है। राज्य स्तर पर विभागीय समन्वय के लिये आईएस ठाकुर संयुक्त आयुक्त, प्रफुल्ल जोशी राज्य कार्यक्रम समन्वयक और ह्वी.के. त्रिपाठी उपसंचालक को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

----------

नगर सरकार आपके द्वार अभियान 2 अक्टूबर से शुरू

हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचकर लोगों की समस्याओं का निराकरण करने के उद्देश्य से आपकी सरकार आपके द्वार अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में अब नगरीय क्षेत्रों में लोगों की समस्याओं के लिए नगर सरकार आपके द्वार अभियान चलाया जाएगा। कलेक्टर एस विश्वनाथन ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग के निर्देशानुसार 2 अक्टूबर से नगरीय क्षेत्रों में यह अभियान प्रारंभ किया जाएगा। अभियान के क्रियान्वयन के लिए परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। अभियान प्रारंभ होने से पहले 30 सितम्बर तक की अवधि में स्वयं सेवकों की पहचान कर उन्हें प्रशिक्षित करने का कार्य किया जाएगा। अभियान का मुख्य उद्देश्य नागरिकों की शिकायत प्राप्त कर उनका निराकरण करना तथा ई-नगर पालिका पर इससे संबंधित अभिलेखों का संधारण करना है। साथ ही इस अभियान द्वारा नागरिकों को नगरीय निकायों की सेवा तथा कर आदि के भुगतान के लिए घर पर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जागरूक व प्रशिक्षित किया जाएगा।

----------

विश्नोई दंपती ने हिरण को बचाया

हरदा। खिरकिया टोल टेक्स के पास रोड किनारे की नहर में एक मादा हिरण बाहर निकलने के लिए छटपटा रहा था। पानी से लबालब भरी नहर में हिरण का बाहर निकलना मुश्किल लग रहा है। आसपास जंगली कुत्तों ने उसे घेर रखा था। इस दौरान सड़क से गुजर रहे सतीश विश्नोई की नजर पड़ी तो वह परिवार सहित उसे बचाने रुक गए। सतीश विश्नोई ने बिना कुछ सोंचे समझे नहर में छलांग लगा दी और बड़ी मशक्कत के बाद हिरण को पकड़ लिया। फिर पत्नि कविता विश्नोई की मदद से उसे नहर के बाहर निकाला। इस पूरे घटनाक्रम का वीडिया सतीश की 6 वर्षीय बिटिया देव्यांशी ने मोबाइल में बना लिया। सतीश मूलतः देवास जिले के मुरझाल के निवासी है। विगत 7 वर्षों से वे खिरकिया में ही रह रहे हैं। मुरझाल से खिरकिया लौट रहे थे तब ये घटनाक्रम हुआ। हिरण के पैरों में चोंट के निशान देखकर उसका शासकीय अस्पताल में इलाज कराया।

-----------