Shardiya Navratri 2020 होशंगाबाद। नवदुनिया प्रतिनिधि। मुख्यालय से 3 किलोमीटर दूर मां नर्मदा के प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर खर्राघाट पर 11 फीट नीचे गुफा में स्थित माता हिंगलाज देवी विराजमान हैं। देवी की पूजन अर्चन से श्रद्धालुओं की मनोकामनाएं पूरी होती हैं। हर नवरात्रि सहित अन्य दिनों में यहां दर्शन पूजन अर्चन करने वालों का तांता लगा रहता है। यह प्राचीन हिंगलाज माता का मंदिर देवी भक्तों की आस्था का केंद्र है।

मां नर्मदा का तट होने के साथ ही नीचे विशाल रेतीला मैदान और एक पुल होने से यहां मंदिर के पास से आवागमन करते हुए वाहन और रेल यातायात के चलते यहां पर सदेैव चहल पहल बनी रहती है। शहर से कुछ दूरी पर होने के कारण भी लोग यहां पर देवी दर्शन के साथ ही पिकनिक भी मनाते हेैं। कई लोगों के द्वारा यहां पर भंडारे के आयोेजन किए जाते हैंं। मंदिर समिति के द्वारा हर वर्ष भंडारा किया जाता है।

ठेकेदार को दिया था स्वप्न

हिंगलाज माता मंदिर के पुजारी पं भवानी प्रसाद तिवारी ने बताया कि खर्राघाट के इस स्थान पर 1970 में देवी मां की प्राचीन प्रतिमा स्थापित थी। जहां पर एक साधु पूजन करते थे। एक मढ़िया बना कर रहते थे। 1973 की बाढ़ के समय सब कुछ नष्ट हो गया। देवी मां की प्रतिमा भी रेत और भसुआ में नीचे दब गई। समय निकलता गया लोग भूलते गए। उसके बाद यहां पर नर्मदा तट के पास ही रेल का पुल बनना शुरू हुआ। पुल का कुछ हिस्सा बन गया था। लेकिन एक पिल्लर नहीं बन पा रहा था। बार-बार टूटकर गिर जाता था। तब परेशान होते हुए रेल पुल ठेकेदार ने नर्मदा तट पर पूजन की और उसके बाद देवी मां से प्रार्थना की तब उसे रात में स्वप्न में मां ने कहा कि यहां पर देवी मां का स्थान है इस स्थान पर मंदिर का निर्माण किया जाए। ठेकेदार ने दूसरे दिन से ही मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू किया उसी के साथ पिल्लर भी बन गया।

पर्यटन स्थल बना हुआ क्षेत्र

यह मंदिर रेलवे की जगह पर है। यहां पर रेलवे के अधिकारी यहां तक कि पूर्व डीआरएम ने आकर माता की पूजन की है। उन्हाेने कहा कि इस स्थान का विकास किया जाना चाहिए। जिससे कि यह एक अच्छे पर्यटन के रूप में विकसित हो सके। उन्होने प्रस्ताव भी तैयार करने को कहा था।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस