शारदोत्सव समिति ने रक्तदाता महिलाओं का किया सम्मान - खेड़ापति सांस्कृतिक ग्रुप में दी प्रस्तुति

31एचओएस17 - सोहागपुर। शारदोत्सव समिति ने किया प्रतिभाओं का सम्मान। नवदुनिया।

सोहागपुर।

शरद पूर्णिमा शारदोत्सव समिति ने शुक्रवार को देनवा गार्डन में 20वें वर्ष में अपनी परंपरा को यथावत रखते हुए एक संक्षिप्त कार्यक्रम में नगर की प्रतिभाओं एवं रक्त दाताओं का सम्मान किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि संत पंडित मनमोहन मुदगल मौजूद थे। मंच पर पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष संतोष मालवीय, भाजपा प्रवेश प्रदेश प्रवक्ता राजो मालवीय, भाजपा नेता आकाश पटे, जय प्रकाश माहेश्वरी, कृष्णा पालीवाल, अभय खंडेलवाल आदि मौजूद थे। शारदोउत्सव समिति के मंच से खेड़ापति सांस्कृतिक ग्रुप के शंकर प्रजापति एवं साथियों ने कोरोना जागरूकता गीत की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम संयोजक पवन सिंह चौहान ने बताया कोविड 19 गाइडलाइन का पालन करते हुए करीब 200 लोगों की मौजूदगी में कार्यक्रम सादगी पूर्ण किया गया है। इसमें मंच से विशेष रूप से रक्तदान करने वाली महिलाओं का सम्मान किया गया है। इसके अलावा नगर का नाम रोशन करने वाली प्रतिभाओं जिन्होंने आईआईटी नीट क्लेट जैसी परीक्षाओं में सफलता हासिल की है उनका भी मंच से सम्मान किया गया। जिन प्रतिभाओं का सम्मान किया गया उनमें अर्पित चौरसिया आईआईटी, अनुश्री शुक्ला एमबीबीएस आध्या तोमर क्लेट के साथ ही 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अव्वल आने वाले सेंट पैट्रिक विवेकानंद स्कूल सरस्वती शिशु मंदिर एवं तहसील क्षेत्र के अन्य विद्यालयों के विद्यार्थियों का सम्मान किया गया। जिन रक्तदाता महिलाओं का सम्मान किया गया उनमें प्रियंका दुबे, नीलम रघुवंशी, क्षमा दीवान, संगीता खनूजा आदि शामिल हैं। इसके अलावा युवकों में रक्तदान सहयोगी के रुप में जीवन दुबे, अभिनव पालीवाल, अश्विनी सरोज, विनोद यादव सौरव सोनी को भी सम्मान किया गया। सीएमओ नरेंद्र रघुवंशी, अमित परसाई, डायल 100 के चालक एवं सैनिक का भी सम्मान किया गया। इस क्रम में श्रीराम सेना राम रहीम रोटी बैंक एवं व्यापारी संघ के सदस्यों का सम्मान हुआ।

000

शरद पूर्णिमा पर नर्मदा में लगाई भक्तों ने डुबकी

पिपरिया। शरद पूर्णिमा के अवसर पर बड़ी संख्या में भक्तों ने नर्मदा तट पहुँचकर स्नान किया। कोरोना के चलते प्रशासन ने नागरिकों से नर्मदा में स्नान नहीं करने की अपील की थी। लेकिन भक्तों पर इस अपील का कोई प्रभाव नहीं हुआ। प्रातः काल से ही श्रद्धालु तट पर पहुंच गए थे यह सिलसिला दोपहर तक जारी रहा। श्रद्धालुओं ने मां नर्मदा में डुबकी लगाकर पुण्य लाभ कमाया। कोरोना के चलते नर्मदा में स्नान करने पर रोक के बावजूद भी भक्तों में स्नान करने पहुचें। नगर के मंदिरों में शरद पूर्णिमा के अवसर खीर का भोग लगाया गया। सांडिया स्थित माँ नर्मदा तट पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। इस अवसर पर हवन पूजन के साथ भंडारों का आयोजन किया गया। नगर के प्राचीन बड़े मंदिर एवं बढ़िया बाले मंदिर में रात्रि में खीर को चंद्रमा की रोशनी में रखा गया। मान्यता के अनुसार शरद पूर्णिमा की चांदनी में रखी खीर खाने से दमा रोगियों को राहत मिलती है। रात्रि 12 बजे पूजन अर्चन के बाद भक्तों को खीर का प्रसाद बांटा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस