इटारसी। सरकारी जगह पर कब्जे की नियत और लंबा-चौड़ा मकान बनाने के लालच में लोगों ने प्रधानमंत्री आवास योजना के पैसों से अतिक्रमण कर लिया। सरकारी जगह हथियाने का लालच इस कदर रहा कि लोगों ने बिजली कंपनी की 11 केव्ही लाइन तक मकानों की छत डाल ली। ऐसे लापरवाह लोगों को यह नहीं पता कि यह लालच उनकी जान का दुश्मन बन सकता है।

बिजली कंपनी ने ऐसे 15 लोगों को नोटिस थमाकर लाइन के आसपास किया गया निर्माण तोड़ने की नसीहत दी है, हालांकि इसकी निगरानी एसडीएम या नगर पालिका को करना थी, लेकिन निर्माण के दौरान दोनों विभाग के अधिकारी खामोश रहे। अधिकारियों के अनुसार नाला मोहल्ला एवं सूरजगंज रोड पर करीब 15 परिवारों को नोटिस जारी किए हैं। बिजली कंपनी शहर प्रबंधक डेलन पटेल ने बताया कि सूरजगंज रोड पर तो हालात बेहद खराब हैं, पिछले माह यहां करंट की चपेट में आने से एक युवक की मौत भी हो चुकी है, जिसके बाद उसके पिता ने कलेक्टर को शिकायत कर अवैध रूप से पट्टों की आड़ में किए गए अतिक्रमण को हटाने का आवेदन दिया था, लेकिन प्रशासन ने इस मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया। लोगों की लापरवाही से पूरी सड़क पर अतिक्रमण हो गया है। इससे जाम लगता है।

हो सकता है हादसाः

पटेल ने बताया कि बिजली लाइन के आसपास अवैध निर्माण करना गैरकानूनी है, भविष्य में किसी भी तरह का हादसा हुआ तो कंपनी जिम्मेदार नहीं होगी, हमने वैधानिक रूप से अपनी जिम्मेदारी पूरी कर दी है। अब मकान तोड़ने की जिम्मेदारी प्रशासन की है। नागरिकों का कहना है कि राजीव गांधी झुग्गी आश्रय योजना में मिले पट्टों से दोगुनी जगह पर लोगों ने कब्जा कर सरकारी जगह पर पक्के आवास बना लिए हैं, इससे मुख्य सड़क की चौड़ाई भी कम हो गई है।

000000000000

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस