फाइल-15 पेज 13 की लीड

बनखेड़ी। नवदुनिया न्यूज

तहसील के ग्राम भौंरोंपुर में गुरुवार रात 11 बजे हुई। जिसमें ग्राम में रहने वाले राधे लाल पटेल पिता धनराज ने अपने ही छोटे भाई गयाप्रसाद उम्र 55 वर्ष पर कु ल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी। इस मामले में लापरवाही बरतने पर प्रधान आरक्षक को निलंबित कर दिया गया है।

परिजनों के अनुसार राधेलाल पटेल और गया प्रसाद के बीच जमीन का मामूली विवाद चल रहा था। दोनों के बीच खेत के पास स्थित 9 एकड़ जमीन की कोली लेने पर भी विवाद था। राधे लाल पटेल ने गयाप्रसाद के पुत्र पवन प्रसाद पर भी दो दिन पूर्व मारपीट की गई थी। जिसमें पवन के हाथ में चोटें आई थीं जिसकी शिकायत बनखेड़ी पुलिस थाने में की गई थी। गयाप्रसाद के छोटे पुत्र प्यारेलाल ने बताया कि राधेलाल पटेल एवं उसके पिता के बीच कोई बहुत बड़ा विवाद नहीं था। मामूली विवादों के चलते उन्होंने मन में रंजिश ठान ली थी। तीन माह से राधे लाल पटेल नर्मदा परिक्रमा पर गए थे। इसके बाद अभी कु छ दिन पूर्व ही लौटे हैं। उसके द्वारा सत्तार खान नामक व्यक्ति का खेत कोली लेने पर भी विवाद हुआ था। घटना ग्राम से करीब एक कि लोमीटर दूर खेत की बताई जा रही है। घटना के वक्त गया प्रसाद खेत पर रास्ते से जा रहा था तभी राधे लाल पटेल ने कु ल्हाड़ी से उस पर वार कि या। गंभीर चोट होने से गया प्रसाद की मौके पर ही मौत हो गई। राधेलाल ने अपनी भाभी गीताबाई पर भी हमला कि या। जिसमें उन्हें सिर में गंभीर चोटें आईं। जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल रेफर कि या गया। मारपीट में गयाप्रसाद के एक पुत्र को भी मामूली चोटें आई।

इस घटना से गुस्सा परिजनों एवं ग्रामीणों ने शनिवार को बनखेड़ी मुख्य चौराहे पर करीब 15 मिनट शव रखकर प्रदर्शन कि या। आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की गई है। परिजनों ने आरोप लगाया कि 2 दिन पूर्व भी राधेलाल पटेल ने गयाप्रसाद के पुत्रों से मारपीट की थी। परंतु उस समय अगर पुलिस द्वारा राधेलाल को गिरफ्तार कर लिया जाता तो आज यह घटना नहीं घटती। मौके पर एसडीओपी रणविजय सिंह, थाना प्रभारी शंकरलाल झारिया एवं अन्य पुलिसकर्मी मौजूद रहे। एसडीओपी ने परिजनों को आश्वासन दिया कि आरोपी को शीघ्र गिरफ्तार कर सजा दी जाएगी। साथ ही कु छ दिन पूर्व हुई मारपीट की घटना में आरोपी पर उचित कार्‌रवाई ना करने के संबंध में जिन भी पुलिसकर्मियों की गलती सामने आएगी उन पर सख्त कार्‌रवाई होगी। समझाइश के बाद परिजनों ने पोस्टमार्टम करने की अनुमति दी।

बताया जाता है कि झगड़े से एक दिन पहले गयाप्रसाद के परिजन थाने शिकायत करने गए थे। जिस पर प्रधान आरक्षक वीरेंद्र शुक्ला ने प्रतिबंधात्मक कार्‌रवाई नहीं की। वरिष्ठ अधिकारियों की रिपोर्ट पर एसडीओपी रणविजय सिंह कु शवाहा ने शुक्ला को निलंबित कर दिया है।

फोटो संख्या 02

14एचओएस-21 बनखेड़ी। वारदात के बाद पहुंची पुलिस पर आक्रोश जताते हुए मृतक के परिजन। नवदुनिया।

14एचओएस-22 बनखेड़ी। परिजनों मृतक का पोस्टमार्टम करते समय हंगामा कि या। नवदुनिया।