16एचओएस5 बनखेड़ी। पशुपालकों को डेयरी संबंधी प्रशिक्षण देते हुए पशुपालन वैज्ञानिक। वि

16एचओएस6 बनखेड़ी। पशुपोषक आहार एजोला की पैदावार का तरीका देखते हुए पशुपालन। वि

बनखेड़ी। नवदुनिया न्यूज

कृषि विज्ञान केंद्र में भारत सरकार के कौशल विकास प्रशिक्षण के अंतर्गत 22 जनवरी से डेयरी कर्मकारों को 200 घंटे का प्रशिक्षण दिया जा रहा है । जिसमें जिले की विभिन्ना तहसील जैसे इटारसी, सोहागपुर, पिपरिया बनखेड़ी से कुल 20 प्रशिक्षार्थी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। डेयरी वर्कर प्रशिक्षण का संचालन पशुपालन वैज्ञानिक डॉ दिवाकर वर्मा के द्वारा किया जा रहा है। प्रशिक्षण में आए हुए युवाओं को प्रतिदिन डेयरी प्रबंधन पर प्रशिक्षण एवं प्रयोग कराए जाते हैं। इस प्रशिक्षण में पशुपोषक एजोला की पैदावार, भूसा में यूरिया के उपयोग से चारा बनाने की विधि सिखाई जा रही है। इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य युवाओं को रोजगार से जोड़ना है। प्रशिक्षण के बाद युवाओं को भारत सरकार से मान्यता प्राप्त प्रमाणपत्र दिया जाएगा। जिसकी मदद से युवा किसी भी डेयरी फार्म में प्रबंधक के रूप में कार्य कर सकेंगे एवं स्वयं की डेयरी संचालित कर सकते हैं।

- डेयरी उद्योग को बढ़ा रहे -

जिले में डेयरी उद्योग को बढ़ाने के लिए डेयरी कर्मचार के रूप में प्रशिक्षार्थियों को दिया गया यह प्रशिक्षण उपयोगी साबित होगा। इसमें हमने पशुओं में होने वाली बीमारियों के प्रति सावधानी और उनके पोषण आहार के बारे में जानकारी दी है।

- डॉ दिवाकर वर्मा, पशुपालन वैज्ञानिक।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket