DAVV Indore: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत अब स्नातक द्वितीय वर्ष के विभिन्न विषयों का ई-कंटेंट बनाया जाएगा। प्रदेशभर के सरकारी और निजी कालेजों के शिक्षक-प्राध्यापकों को ई-सामग्री तैयार करने के लिए चुना गया है। सोमवार से इन्हें आनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा, जो पांच दिन तक चलेगा। विभाग के अधिकारियों के मुताबिक प्रशिक्षण कार्यक्रम तीन चरणों में रखा है।

बीए, बीकाम, बीएससी सहित स्नातक द्वितीय वर्ष के चालीस विषय का सिलेबस बन चुका है। प्राचीन भारतीय इतिहास, पर्यावरण विज्ञान, वेद, संस्कृत, कम्प्यूटर विज्ञान, दर्शनशास्त्र, लेखांकन, योग- ध्यान, हिन्दी, अंग्रेजी, मनोविज्ञान, शारीरिक शिक्षा तथा राष्ट्रीय सेवा योजना आदि 22 विषय है। 10 संभाग के नोडल अधिकारियों के माध्यम से चयनित 400 विषय विशेषज्ञों प्राध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। आनलाइन प्रशिक्षण का पहला चरण 23 से 28 मई के बीच चलेगा। 1300 शिक्षकों को ई-कंटेंट बनाने की जिम्मेदारी मिली है, जिसमें ई-टेक्ट लेखन, रोचक पीपीटी निर्माण, मूल्यांकन की क्विज आदि विधियों तथा विडियो रिकार्डिंग करना है। उसके बारे में प्रशिक्षण दिया जाएगा।

अधिकारियों के मुताबिक द्वितीय चरण का आयोजन 30 मई से 06 जून 2022 तक किया जाएगा, जिसमें समाजशास्त्र, राजनीति शास्त्र, गणित, भौतिक शास्त्र आदि विषयों में ई-कंटेंट निर्माण के बारे में बताएंगे। बाद में शेष विषयों के लिए 6 से 11 जून 2022 तक प्रशिक्षण दिया जाएगाा। सुबह 11 बजे से आनलाइन प्रशिक्षण रखा जाएगा। इसके माध्यम से स्नातक द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों के लिए समयसीमा में ई-कंटेंट बनाने का काम पूरा करना है। ताकि शैक्षणिक सत्र आरंभ होते ही विद्यार्थियों को अध्ययन सामग्री उपलब्ध हो सके।अगस्त तक किताबें बाजार में मिलेंगी। आयुक्त दीपक सिंह का कहना है कि स्नातक द्वितीय वर्ष के सभी विषयों का सिलेबस और ई-कंटेंट अगस्त-सितंबर तक बनाया जाएगा। वे बताते है कि शिक्षकों को आनलाइन कंटेंट को यू-ट्यूब व विभाग के पोर्टल पर अपलोड किए जाएंगे।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close