DAVV Indore: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) से मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम की सीटें विद्यार्थियों को आवंटित हो चुकी है। तीसरे चरण की काउंसलिंग में छात्र-छात्राओं को उनके पसंदीदा कालेजों में 25 हजार सीटें दी है। बुधवार देर शाम जारी हुई सूची के आधार पर विद्यार्थियों को अगले तीन दिन के भीतर कालेज में रिपोर्टिंग और फीस जमा करना है। वहीं शेष रिक्त सीटों को लेकर कालेजों की चिंताएं बढ़ गई है। जबकि जिन विद्यार्थियों का पंजीयन नहीं हुआ है। उन्होंने उच्च शिक्षा विभाग से अतिरिक्त चरण की मांग की है। बुधवार को कुछ विद्यार्थियों ने अतिरिक्त संचालक से भी मुलाकात की है।

बीएड-एमएड, बीपीएड, एमपीएड, बीएबीएड, बीएससीबीएड, बीएलएड कोर्स की 63 हजार सीटों पर विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाना है। पहले चरण में 23 हजार विद्यार्थियों को सीट आवंटित हुई, जिसमें 18 हजार सीटें भर पाई है। दूसरे चरण में दस्तावेज सत्यापन के बाद 26 हजार विद्यार्थियों की मेरिट बनाई और सीटें आवंटित की गई। मगर इनमें से 16 हजार छात्र-छात्राओं ने प्रवेश लिया। कुल मिलकर अभी तक 33 हजार सीटें भर पाई है। तीसरे चरण में 29 में से 25 हजार सीटें विद्यार्थियों को आवंटित हुई है। कुछ कालेजों में बीएड-एमएड की सभी सीटों पर छात्र-छात्राओं को प्रवेश दे दिया है। जबकि कुछ कालेजों में रिक्त 40 फीसद सीटें विद्यार्थियों को आवंटित हुई है।

अशासकीय शिक्षा महाविद्यालय संघ के सुनील पंड्या, रामबाबू शर्मा का कहना है कि अभी जिन सीटों पर विद्यार्थियों को प्रवेश दिया है। अधिकांश अन्य जिलों के छात्र-छात्राएं है, जिसमें उज्जैन, धार, झाबुआ और बडवानी के विद्यार्थी है। 60-70 किमी दूर कालेज होने से विद्यार्थी प्रवेश नहीं लेते है। संघ के गिरधर नागर का कहना है कि 25 जून बाद रिक्त सीटों का ब्यौरा आएगा। विद्यार्थियों के मुताबिक जिले से बाहर का कालेज मिलने से प्रवेश नहीं लिया है। चौथे चरण की काउंसलिंग के लिए अधिकारियों को गुहार लगाई है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close