Mahesh Navami 2020: माहेश्वरी समाज के उत्पत्ति दिवस महेश नवमी के मौके पर आयोजित तीन दिनी महेश नवमी उत्सव की शुरुआत शुक्रवार से होगी। कोरोना संक्रमण के चलते इस वर्ष कार्यक्रम ऑनलाइन होंगे। इसमें भजन व निबंध प्रतियोगिता, वर्चुअल प्रभातफेरी सहित कई कार्यक्रम होंगे। मध्य प्रदेश में इंदौर जिला माहेश्वरी समाज के अध्यक्ष राजेश मूंगड़ और रूपेश भूतड़ा ने बताया कि महेश नवमी 31 मई को है। मान्यता है कि माहेश्वरी समाज की उत्पत्ति युधिष्ठिर संवत्‌ के ज्येष्ठ माह शुक्ल पक्ष की नवमी को हुई थी, तभी से माहेश्वरी समाज इस उत्पत्ति दिवस को महेश नवमी को पर्व के रूप में मनाते हुए प्रति वर्षानुसार इस वर्ष भी कई कार्यक्रम आयोजित करेगा। कोरोना के कारण निर्मित हुई स्थितियों के चलते सभी कार्यक्रम ऑनलाइन होंगे।

Mahesh Navami पर होंगे ये आयोजन

इस कड़ी में 29 मई को भगवान महेश पर भजन गाते व नृत्य करते हुए आकर्षक वीडियो बनाकर संयोजकों को पोस्ट करना है। संस्था के सीएम माहेश्वरी और मुकेश असावा ने बताया कि ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता के लिए 30 मई तक संयोजकों को प्रेषित करना होगा। प्रथम तीन प्रविष्टियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। 31 मई के दिन महेश नवमी पर जानकीनाथ मंदिर गोराकुंड पर सुबह 8 बजे रुद्राभिषेक और 9ः30 बजे महाआरती होगी। इसका ऑनलाइन प्रसारण सोशल मीडिया पर किया जाएगा।

कब से कब तक रहेगी महेश नवमी

यूं तो Mahesh Navami 31 मई को है, लेकिन पंडिंतों को अनुसार यह तिथि 30 मई की शाम 7 बजकर 55 मिनट से ही लग जाएगी और 31 मई शाम 5 बजकर 30 मिनट तक रहेगी। इसी दौरान सभी आयोजन होंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना