इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। देश में सर्वाधिक सोयाबीन उत्पादन करने वाले मध्य प्रदेश में इस साल कई जिलों में सोयाबीन फसल को भारी नुकसान हुआ है। पहले कीड़ों ने फसल बर्बाद की तो अब लगातार हो रही बारिश मार रही है। बची फसल किसान समेटना चाहते हैं, लेकिन बारिश के कारण मुश्किल हो रही है। 'नईदुनिया' की पड़ताल में इंदौर जिले में करीब 90 फीसदी फसल खत्म हो चुकी है। यह लगातार दूसरा साल है जब सोयाबीन की फसल खराब हुई है।

राज्य शासन ने फसल कटाई प्रयोग से नुकसानी का आकलन शुरू किया है। इंदौर जिले में सोयाबीन का कुल रकबा 2.20 लाख हेक्टेयर है। कृषि और राजस्व विभाग के अब तक के सर्वे के मुताबिक यहां 1.68 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सोयाबीन को नुकसान हुआ है। इस तरह इंदौर के 76 प्रतिशत हिस्से में फसल बर्बाद हुई है।

सरकारी आंकड़ों की कहानी जो भी हो, लेकिन धरातल पर हालात इससे भी ज्यादा खराब हैं। कनाड़िया गांव के राधेश्याम मंडलोई ने बताया कि बारिश के कारण खेत में हार्वेस्टर भी नहीं जा पा रहा है। जिन किसानों ने फसल काट ली ,उनकी भी एक बीघा पर 25 से 50 किलो के आसपास ही उपज हुई है। दाना भी ज्वार के दाने के बराबर रह गया है। बेगमखेड़ी, चौहानखेड़ी, खैमाना, गारी पीपल्या, हिंगोनिया, ऊपरीनाथा, झलारिया, बिशनखेड़ा, निंगनोटी, कदवाली खुर्द, बुरानाखेड़ी, सेमलिया चाऊ, ज्ञानी जलोद सहित कई गांवों में एक जैसे हालात हैं।

गुजारे के लिए छोटे किसानों को लेकर पड़ेगा कर्ज

हिंगोनिया के किसान अशोक सिसोदिया ने बताया कि बड़े किसान तो किसी तरह काम चला लेंगे, लेकिन छोटे किसानों के लिए घर का दाना-पानी चलाने के लिए भी कर्ज लेना पड़ेगा। बेगमखेड़ी के कमलसिंह जाधव ने बताया कि जिन खेतों में सोयाबीन फली में दाना ही नहीं है, वे किसान तो फसल काटे बिना ही ट्रैक्टर से बखर रहे हैं।

आपदाग्रस्त जिला घोषित हो इंदौर

किसान सेना के नेता केदार पटेल, जगदीश राविलया और दिलीपसिंह तंवर के मुताबिक सोयाबीन उत्पादक किसानों को भारी नुकसान हुआ है। इंदौर जिले के सांवेर और महू विधानसभा के विधायक मंत्री हैं तो राऊ और देपालपुर के विधायक खुद को किसान नेता मानते हैं। अन्नदाता किसानों की हालत किसी को नजर नहीं आ रही है। हालात देखते हुए इंदौर जिले को आपदाग्रस्त घोषित किया जाना चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020