Indore Coronavirus News इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमणकाल के छह माह गुजरने के बाद भी लोग इसे लेकर जागरूक नहीं हो रहे हैं। कोविड-19 के लिए बनाए गए नियंत्रण कक्ष से पॉजिटिव मरीजों को कॉल लगाया जाता है। इसमें यह बात सामने आ रही है कि कुछ लोग जांच के बाद अपना पता व मोबाइल नंबर गलत दर्ज करा रहे हैं। जिससे फॉलोअप के लिए डॉक्टरों को भेजने में दिक्कत होती है।

स्क्रीनिंग सेंटर प्रभारी डॉ. अनिल डोंगरे के अनुसार 24 घंटे कॉल सेंटर चालू रहता है। पॉजिटिव मरीजों को फोन लगाकर उनका फॉलोअप लेने का काम किया जाता है। कई बार ऐसा भी हुआ है कि फोन लगाने पर पता व मोबाइल नंबर गलत मिला है। कई लोग तो डिटेल मांगने पर धमकी तक दे देते हैं या वह डर के कारण चिड़चिड़ा बर्ताव भी करने लगते हैं।

कॉल सेंटर पर पूछ रहे- 'कब खत्म होगा कोरोना'

हेल्पलाइन नंबर 1075 पर हर रोज आ रहे दो हजार कॉल में से लगभग 200 कॉल सिर्फ मजाक के लिए अनावश्यक जानकारी मांगने के आ रहे हैं। कॉल सेंटर पर ड्यूटी दे रहे डॉक्टर को भी इसमें परेशानी का सामना करना पड़ता है। डॉक्टरों के अनुसार लोग यह भी लगाकर पूछते हैं कि कोरोना कब खत्म होगा। कई लोग अपने आसपास के लोगों के बीमार होने की जानकारी देते हैं, लेकिन जब वहां जाते हैं तो कोई नहीं मिलता। कॉल करने वाला अपनी पहचान भी नहीं बताता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस