जरूरतमंदों को बांटा जाएगा जब्त केरोसिन

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। महू के केरोसिन घोटाले में लिप्त मोहनलाल अग्रवाल के नाम से खाद्य व नागरिक आपूर्ति विभाग ने कोई लाइसेंस नहीं दिया है। दूसरी तरफ उसकी रिश्तेदार महिला चंचल अग्रवाल के नाम से सेमी होलसेलर का लाइसेंस है, लेकिन ठिकाने पर केरोसिन का कोई भंडारण नहीं मिला। इस तरह सेमी होलसेलर के इस लाइसेंस पर केरोसिन की हेराफेरी की जाती थी। इस मामले में खाद्य विभाग की शिकायत पर पुलिस ने आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इनमें मोहनलाल, उसकी पत्नी मीना और मैनेजर नंदकिशोर यादव शाामिल हैं।

दरअसल, महू के नजदीक बिचौली स्थित मोहनलाल के खेत पर भूमिगत टैंक में सार्वजनिक वितरण प्रणाली का केरोसिन अवैध रूप से रखा जा रहा था। इसकी जानकारी मिलने पर महू एसडीएम अभिलाष मिश्रा ने पुलिस की मदद से छापामार कार्रवाई की। यहां से 20 हजार 200 लीटर केरोसिन जब्त किया गया था। आरोपित मोहनलाल और उसके बेटे चावल घोटाले में पहले से फरार चल रहे हैं। खाद्य विभाग के जिला आपूर्ति नियंत्रक आरसी मीणा ने बताया कि जब्त केरोसिन राजसात कर इसे जरूरतमंदों में बंटवाया जाएगा। आरोपित का केस कोर्ट में चलेगा और कानून के तहत उन्हें सजा होगी। जुर्माना भी वसूला जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस