इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बीते 6 माह में जिले में कोरोना से 531 लोगों की जान गई है। इनमें से 79 मरीजों को हृदय संबंधी बीमारी थी। इन मामलों में सामने आया कि कोरोना वायरस के प्रभाव से हृदय तक रक्त पहुंचाने वाली कोशिकाओं में रक्त का संचरण धीमा हो जाता है। मरीज गंभीर स्थिति में अस्पताल पहुंचते हैं। सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल के अधीक्षक डा. सुमित शुक्ला ने बताया कि कोरोना वायरस तीन से चार तरह में हृदय को प्रभावित कर रहा है।

- एक खून को गाढ़ा कर देता है।

- थक्के जमने लगते हैं जो हृदय में जाकर जम जाते हैं।

- शरीर की एंटीबॉडी शरीर के ही खिलाफ काम करने से आघात की आशंका बढ़ जाती है

- फेफड़ों के अधिक संक्रमण से खून में ऑक्सीजन की कमी से आघात की आशंका

30 प्रतिशत हृदय रोगी कोरोना पॉजिटिव

कार्डियोलॉजिस्ट डा. अखिलेश जैन के अनुसार कम से कम 30 प्रतिशत हृदय संबंधी मरीजों में जब हमने कोरोना का टेस्ट किया तो वह पॉजिटिव आया। ये वे मरीज थे जो हमारे पास हृदयाघात के उपचार के लिए आए थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020