इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश में विधानसभा उप चुनाव के पहले भाजपा की शिवराज सरकार ने कांग्रेस की कमल नाथ सरकार के समय शुरू हुई जय किसान कृषि ऋण माफी योजना के दूसरे चरण को अपना लिया है। इसीलिए अब बचे हुए किसानों में से नियमित कृषि ऋण खाते वाले किसानों का 50 हजार से लेकर 1 लाख रुपये तक का कर्ज माफ किया जाएगा। इंदौर जिले में ऐसे 8403 किसानों का कर्ज माफ होगा। इसके लिए शासन की ओर से 56 करोड़ रुपये की राशि आई है।

यह पैसा किसानों के बैंक खातों में डाला जाएगा। पैसा आने के बाद इंदौर प्रीमियर को-ऑपरेटिव बैंक ने इसकी तैयारी कर ली है। गौरतलब है कि योजना के पहले चरण में जिले के 22 हजार 737 किसानों का सहकारी बैंकों का 83 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया गया था। इसमें 50 हजार रुपये तक कर्ज वाले चालू खाते वाले और 2 लाख रुपये कर्ज वाले डिफॉल्टर किसान शामिल थे। आइपीसी बैंक के सीईओ एसके खरे ने बताया कि शासन की योजना के तहत 50 हजार से 1 लाख रुपये तक कर्ज के नियमित खाते वाले किसानों को लाभ मिलेगा। उनके खातों में पैसा दे दिया जाएगा। इससे किसानों को खेती के लिए दोबारा लोन की सुविधा भी मिल सकेगी। जो किसान डिफॉल्टर हो चुके होंगे, उनकी भी जानकारी बुलवाकर दस्तावेजों की पूर्ति की जाएगी और पात्र किसानों को कृषि के लिए ऋण दिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020