इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर सहकारी दुग्ध संघ के मांगलिया स्थित परिसर में सांची दूध पाउडर बनाने का नया प्लांट बनाया जाएगा। प्लांट की लागत 76.50 करोड़ है। इसके लिए भारत सरकार ने डेयरी अधोसंरचना विकास निधि के तहत इंदौर दुग्ध संघ के लिए 50 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं।

यह राशि राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम से मिलेगी। इसके लिए राज्य सरकार गारंटी देगी। राज्य मंत्रिमंडल में इसको मंजूरी मिल चुकी है। लागत के बाकी 26.50 करोड़ रुपये दुग्ध संघ खुद लगाएगा।

दुग्ध संघ के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एएन द्विवेदी ने बताया कि दूध पाउडर के पुराने प्लांट की क्षमता 1.50 लाख लीटर की है, लेकिन नए प्लांट की क्षमता 3.50 लाख होगी। इंदौर प्लांट से भोपाल और उज्जैन दुग्ध संघ को भी लाभ होगा। इंदौर दुग्ध संघ में तो पाउडर बनाया जा रहा है लेकिन भोपाल और उज्जैन दुग्ध संघ के बचे हुए दूध से निजी कारखानों से पाउडर बनवाना पड़ रहा है लेकिन इंदौर में अधिक क्षमता का नया प्लांट बनने से निजी कारखानों से पाउडर नहीं बनवाना पड़ेगा।

समाज से खत्म होना चाहिए यह बीमारी

थैलेसीमिया एंड चाइल्ड वेलफेयर ग्रुप के रजत जयंति विशेषांक का लोकार्पण मंगलवार को भाजपा के मध्यप्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, पूर्व राज्य सभा सदस्य रघुनन्दन शर्मा, पूर्व शिक्षा मंत्री दीपक जोशी के आतिथ्य में हुआ। अायोजन की अध्यक्षता मध्यप्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डा. मोहन यादव ने की। मुरलीधर राव ने कहा कि समाज से समाज से थैलेसीमिया जैसी बीमारी का खात्मा होना चाहिए क्योंकि ये खतरनाक बीमारी है। डा. रजनी भंडारी ने बताया कि इस अवसर पर विधायक रमेश मेंदोला, समाजसेवी भगवानदास सबनानी विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन नाहिदा परवेज ने किया। आभार पूर्णिमा रावत ने माना।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local