इंदौर। नाले में बहे युवक का शव गुरुवार को मिल गया।बुधवार को देर रात तक पुलिस शव की सर्चिंग में जुटी थी।

खेड़ापति हनुमान मंदिर के पास बुधवार दोपहर नाले में नहाने के दौरान 23 वर्षीय जफर बह गया था, जबकि एक साथी को बचा लिया गया।जफर गहरे पानी में चला गया था और संतुलन बिगड़ने के दौरान बह गया।टीआइ अभय नेमा ने बताया कि गुरुवार को जफर का शव लाल स्कूल के पीछे नाले से मिल गया।घटना स्थल से डेढ़-दो सौ मीटर दूरी पर ही जफर का शव नाले में फंस गया था।

वहीं बाणगंगा स्थित विशाल नगर में भी बुधवार रात 23 वर्षीय प्रीति जायसवाल नाले में बह गई थी।दो सौ लोगों ने तीन किमी दूर तक उसे ढूंढा लेकिन कोई पता नहीं चला था।पुलिस, रहवासी और एसडीआरएफ की टीम देर रात तक सर्चिंग करती रही थी।स्वजन ने पुलिस को बताया था कि प्रीति घर से कुछ फेंक रही थी, तभी असंतुलित होकर नाले में गिर गई।उसके साथ चार साल का बच्चा प्रियांक भी गिरा।प्रदीप ने देखा तो वह नाले की तरफ दौड़ा और प्रियांक को बचाया पर प्रीति तेज बहाव में बह गई।बाणगंगा थाना प्रभारी ने बताया कि गुरुवार को भी देर शाम तक प्रीति का शव नहीं मिला।

ट्रैक पर भरा पानी, नहीं हो पाए लाइसेंस के ट्रायल

इंदौर शहर में मंगलवार रात से जारी भारी वर्षा के कारण बुधवार को आरटीओ में पक्के लाइसेंस के ट्रायल नहीं हो पाए। तेज वर्षा के कारण ट्रैक पर पानी भर गया है। सोमवार को ट्रायल हुए थे। मंगलवार को अवकाश था और बुधवार को भी ट्रायल नहीं हुए। अब गुरुवार को रक्षाबंधन का अवकाश है। इस कारण ट्रायल नहीं हो सकेंगे।

यशवंत सागर बांध के तीन गेट खोले

इंदौर में मंगलवार रात हुई वर्षा से शहर के तालाब लबालब हो गए। यशवंत सागर में जलस्तर बढ़ने से बांध का एक गेट मंगलवार रात 12.30 बजे, दूसरा गेट रात 3 बजे और तीसरा गेट बुधवार सुबह 6.30 बजे खोला। बुधवार 12 बजे तक यशवंत सागर के तीनों गेट खुले रहे।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close