Indian Railways: नवीन यादव, इंदौर। सरायरोहिल्ला (दिल्ली) और इंदौर के बीच चलने वाले इंटरसिटी एक्सप्रेस के कोच की श्रेणी में रेलवे ने बदलाव किया है। 22 कोच की इस ट्रेन में थर्ड एसी की संख्या बढ़ाई है, जबकि स्लीपर की संख्या कम की गई है। दोनों श्रेणी के किराये में 750 रुपये का अंतर है। थर्ड एसी का किराया 1200 रुपये है, जबकि स्लीपर कोच का किराया 450 रुपये है। किराये में इतना अंतर होने के कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

रेलवे ने इस प्रमुख ट्रेन के कोच कंपोजिशन में पिछले कुछ दिनों से अचानक बदलाव कर दिया गया है। इसमें थर्ड एसी के छह कोच लगाए गए हैं, जबकि पहले तीन हुआ करते थे। स्लीपर कोच की संख्या को कम कर सात किया गया है, जबकि पहले 12 होते थे।

15 दिनों से तत्काल टिकट बंद

रेलवे सूत्रों का कहना है कि इस ट्रेन को लेकर रेलवे लगातार प्रयोग कर रहा है। बीते 15 दिनों से इसका तत्काल कोटा बंद कर दिया गया है। रेलवे अधिकारी तकनीकी परेशानी का हवाला देकर इसे बंद करने की बात कह रहे हैं।

पूरी ट्रेन हो सकती है वातानुकूलित

रेलवे जानकारों का कहना है कि बुधवार को नई ट्रेन की घोषणा के साथ ही इंदौर-दिल्ली के बीच सात ट्रेनें हो गई हैं। फिर भी इस रूट पर वेटिंग रहती है। लंबे समय से इस रूट पर दुरंतो जैसी एक पूरी तरह एसी कोच वाली ट्रेन की मांग की जा रही है। संभवत: इस ट्रेन को निकट भविष्य में पूर्णत: वातानुकूलित (एसी) कर दिया जाए। इसलिए स्लीपर कोच की संख्या कम की जा रही है।

थर्ड एसी की मांग ज्यादा

किसी भी ट्रेन में कोच की श्रेणी और संख्या उसकी बुकिंग के हिसाब से तय की जाती है। इसके अलावा रैक की उपलब्धता भी एक प्रमुख कारण रहता है। इस ट्रेन में थर्ड एसी की मांग काफी अधिक है, इसलिए बदलाव किया गया है।

-खेमराज मीना, जनसंपर्क अधिकारी, पश्चिम रेलवे

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close