इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Crime File Indore। इंदौर से ब्यावरा जा रही एक बस को भंवरकुंआ थाने के आरक्षक ने रोक लिया। बस को जप्त कर थाने ले आया। बस को छोडने के एवज में ड्राइवर-कंडक्टर से 20 हजार की रिश्वत मांगने लगा। बस मालिक ने मामले की शिकायत लोकायुक्त में कर दी। लोकायुक्त पुलिस दो दिन तक उसे रंगे पकड़ने के लिए भंवरकुंआ थाने के चक्कर लगाती रही, शंका होने पर आरक्षक मोबाइल बंद कर भाग गया है। उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है और उसे निलंबित करने के लिए लोकायुक्त ने पुलिस को पत्र लिखा है।

लोकायुक्त निरीक्षक विजय चौधरी के अनुसार घटना सोमवार की है। रामकुमार शर्मा की उज्जैनी ट्रेवल्स के नाम से बसें चलती है। सोमवार सुबह उनकी एक बस इंदौर से ब्यावरा जा रही थी तभी भंवरकुंआ थाने के आरक्षक राहुल और एक अन्य ने उसे रोक लिया। दोनों बस का परमिट नहीं होने का कह कर उसे थाने ले आए। यहां पर राहुल ने ड्राइवर और कंडक्टर से कहा कि 20 हजार रुपये लगेंगे। इसके बाद ही बस छूटेगी।

चौधरी के अनुसार बस मालिक ने मामले की शिकायत लोकायुक्त पुलिस में की। वे लोग फिर से आरक्षक राहुल के पास पहुंचे तो सौदा 15 हजार रुपये में जम गया। कुछ देर बाद वे रुपये और हमारी टीम को लेकर गए तो राहुल थाने पर ही नहीं आया। हम उसे रंगे हाथ पकड़ने का प्रयास करते रहे लेकिन शंका होने पर उसने अपना मोबाइल भी बंद कर लिया। उसके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags