इंदौर। रेस्‍क्यू के बाद पिंजरे से तेंदुए के गायब होने पर अनेक सवाल सिर उठा रहे हैं। इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि रेसक्यू के बाद बुरहानपुर से इंदौर के बीच तेंदुआ पिंजरे से निकलकर भाग गया हो।

-तेंदुए के बुधवार रात को आने के बाद भी चिड़‍ियाघर में किसी को नजर क्यों नहीं आया।दिनभर चिड़‍ियाघर में सर्चिंग और दर्शकों के लिए खुला होने के बाद किसी को नजर क्यों नहीं आया।

- चिड़‍ियाघर में करीब 22 सीसीटीवी कैमरे हैं किसी में भी उसकी साफ तस्वीर नजर नहीं आ रही है। एक कैमरे जरूर उसके दिखाई देने की बात की जा रही है लेकिन यह छवि साफ नहीं है।

- वन विभाग के मुताबिक रेस्‍क्यू के बाद उसे भोजन दिया गया था इसके चलते अगले 48 घंटे शिकार की संभावना न के बराबर है।

- वन विभाग द्वारा तेंदुए को रेस्क्यू करने के लिए जिस पिंजरे का उपयोग कर रहा था उसके लिए जानकारों का कहना है कि यह बंदरों के लिए भी उपयुक्त नहीं है।

- चिड़‍ियाघर से तेंदुआ अगर बाहर निकल गया है तो आसपास की कालोनी में रहने वाले लोगों के लिए यह खतरनाक हो सकता है।

24 घंटे बाद भी तेंदुआ के चिड़‍ियाघर आने पर निष्कर्ष नहीं निकला

तेंदुए के इंदौर चिड़‍ियाघर में पहुंचने को लेकर 24 घंटे बाद भी निष्कर्ष नहीं निकल पाया। जू प्रबंधन के मुताबिक उन्हें तेंदुआ सौंपा नहीं गया और नहीं इसकी कोई रिसिप्ट ली गई। इतना नही नहीं चिड़‍ियाघर में गाड़ी पार्क करने के बाद भी वन विभाग के अधिकारियों ने चिड़‍ियाघर से कोई संपर्क नहीं किया।

गायब होने की खबर के बाद आसपास की कालोनी में दहशत

चिड़‍ियाघर 52 एकड़ में फैला है। यहां करीब 650 वन्य प्राणी है। तेंदुआ गायब होने के बात इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने के बाद आसपास की कालोनी में दहशत फैल गई है।संवाद नगर, आजादनगर, मूसाखेड़ी. नवलखा, रेसीडेंसी क्षेत्र के रहवासी सतर्क हो गए हैं। पुलिस प्रशासन भी अलर्ट हो गया है।

दोनों पैरों में लगी है चोट

सामान्य वयस्क तेंदुआ तेज भागने के साथ ही पचास फीट तक की उंचाई तक पेड़ों पर चढ़ सकता है। हालांकि पिंजरा तोड़कर भागा तेंदुआ के अगले दोनों पैर जख्मी हैं। ऐसे में उसका दूर तक जाने की संभावना से भी इंकार किया जा रहा है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local