Leopard in Indore: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। खुडैल में तेंदुए के हलचल से ग्रामीण डरे हुए हैं। वन विभाग ने मंगलवार को सर्चिंग बंद कर दी, लेकिन तीन दिन बाद फिर इलाके में तेंदुए नजर आया है। शुक्रवार को ग्रामीण ने तेंदुए को देखने का दावा किया है। इसके बाद वनकर्मियों ने आसपास का इलाका देखा। मगर जंगली जानवरों को लेकर कुछ भी नहीं मिला। अधिकारियों के मुताबिक जंगल से लगा गांव होने के चलते जानवरों की गतिविधि देखी जा सकती है। वैसे ग्रामीणों को रात में घर के बाहर सोने और निकले से माना किया है।

दरअसल सोमवार को खेत में काम करने वाले ग्रामीणों पर तेंदुए ने हमला कर दिया है, जिसमें शाकिर और फरीद दोनों घायल हो गए। सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम भी पहुंची। तत्काल दोनों को उपचार के लिए भेजा गया। सोमवार-मंगलवार को इंदौर रेंज और रालामंडल अभयारण्य की रेस्क्यू टीम आसपास इलाके में सर्चिंग करती रही। पिंजरा भी लगाया था, लेकिन तेंदुए उसमें कैद नहीं हुआ। बाद में टीम को तेंदुए के पगमार्क मिले। उसके आधार पर वनकर्मियों ने अंदाजा लगाया कि तेंदुए वापस जंगल की तरफ लौट गया है।

इसके चलते सर्चिंग तुरंत बंद कर दी और टीम वापस आ गई। मगर शुक्रवार को फिर एक ग्रामीण ने तेंदुए को देखा है। पर अभी तक गांव में किसी पर हमला नहीं किया है। यहां तक मवेशियों का शिकार भी नहीं हुआ है। ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए कहा है। साथ ही बच्चों को रात में अकेले घर से बाहर निकलने को लेकर माना किया है। रेंजर जयवीर सिंह का कहना है कि खुडैल और आसपास गांवों में वनकर्मियों की गश्त बढ़ाई है। साथ ही ग्रामीणों को तेंदुए से जुड़ी तुरंत जानकारी देने के लिए कहा है। वे बताते है कि शनिवार को भी स्टाफ भेजकर खेतों के आसपास सर्चिंग करवाएंगे।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close