Lata Alankaran: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। दो दिवसीय राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान व अलंकरण समारोह में गायिका अलका याग्निक और कुमार सानु ने लोकप्रिय गीत प्रस्‍तुत कर समां बांध दिया। आयोजन का मुख्य कार्यक्रम ब्रिलियंट कंवेंशन सेंटर में हुआ। इंदौर में लता मंगेशकर पर संग्रहालय स्थापित होगा। उनकी प्रतिमा भी स्थापित होगी। मुख्‍यमंत्री श‍िवराज सिंह चौहान ने कार्यक्रम में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सहभागिता की।

उन्‍होंने कहा कि मैं नवरात्र में शाम को मां के पाठ करता हूं इस वजह से कार्यक्रम में नहीं आ पाया। सीएम ने घोषणा की कि इंदौर के संगीत महाविद्यालय का नामकरण लता मंगेशकर के नाम पर होगा। लता मंगेशकर के नाम से संगीत अकादमी बनेगी।

अलंकरण समारोह में वर्ष 2019 का सम्मान पार्श्व गायन के लिए शैलेन्द्र सिंह, वर्ष 2020 का सम्मान संगीत निर्देशन के लिए आनंद-मिलिंद को और 2021 का सम्मान पार्श्व गायन के लिए कुमार शानू को दिया गया। अलंकरण समारोह के बाद संगीत संध्या हुई। इसमें पार्श्व गायिका अलका याग्निक ने प्रस्तुति दी । इस आयोजन में राज्य स्तरीय स्पर्धा में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विजेताओं ने भी प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में बड़ी संख्‍या में संगीत प्रेमी उपस्थित थे। अवार्ड संस्‍कृति मंत्री ऊषा ठाकुर ने वितरित किए। महापौर पुष्‍यमित्र भार्गव और संसद सदस्‍य शंकर लालवानी भी इस मौके पर उपस्थित थे।

इससे पहले समारोह की शुरुआत मंगलवार को सुरीले अंदाज के साथ हुई। इस सुरीले आगाज में प्रदेश के नौनिहालों ने अपनी आवाज और अंदाज को मधुर गीतों के जरिए पेश किया। रवींद्र नाट्यगृह में मंगलवार शाम राज्य स्तरीय सुगम संगीत स्पर्धा हुई। इसमें सीनियर और जूनियर वर्ग में 14-14 प्रतिभागियों ने प्रस्तुति दी। ये वे प्रतिभागी थे जिन्होंने संभाग स्तरीय स्पर्धा में प्रथम और दि्वतीय स्थान प्राप्त किया था।

स्पर्धा में जूनियर वर्ग में जबलपुर की अमोदिता राय ने साएमन बौराना मोरण गीत सुनाया तो उज्जैन की अनुभूति शर्मा ने मधुर-मधुर मेरे गीत पेश किया। ग्वालियर के प्रथम जोशी ने क्या सोचता है रे पागल मनवा गीत सुनाया तो इंदौर के अल्फेस खान ने बाह खुदा गीत प्रस्तुत किया। सीनियर वर्ग में जबलपुर के आयुष मेहरा ने तुम्हारे चेहरे पर न जाने ये नूर कैसा, उज्जैन की अक्षिता सिंह चौहान ने मत बांधे रे गठरिया गीत सुनाया। भोपाल के आलाप भट्ट ने सजल नयन नित धार और सागर के ऐश्वर्या दुबे ने हमारे प्यार की सोगंध है सुनाकर दाद बटोरी।

स्पर्धा के निर्णायक संजीव सचदेव, मृदुला एस. जोशी और मिलिंद जोशी थे। स्पर्धा के दोनों ही वर्ग में पहला स्थान इंदौर के प्रतिभागियों ने प्राप्त किया। जूनियर वर्ग में सनाया दहाले ने और सीनियर वर्ग में रजत कुलकर्णी प्रथम स्थान पर रहे।

यह रहे विजेता:

जूनियर वर्ग-

प्रथम: सनाया दहाले (इंदौर)

दि्वतीय: प्रतिमा गोस्वामी (भोपाल)

तृतीय: नीलम मिश्रा (सतना)

सीनियर वर्ग-

प्रथम: रजत कुलकर्णी (इंदौर)

द्वितीय: सत्येंद्र पांडेय (सतना)

तृतीय: मोहित खान (ग्वालियर)

फोटो और वीडियो प्रफुल्‍ल चौरस‍िया आशु

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close