Indore News: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जीवन में प्रत्येक व्यक्ति को हनुमान प्रिय होना चाहिए। प्रतिष्ठा का, भवन का अभिमान कभी नहीं होना चाहिए। अभिमान व्यक्ति का विनाश करता है इसलिए कभी अभिमान नहीं करें। संसार में मैं को हटाकर हम से जीना शुरू कर दो सफलता मिलेगी। मैं शब्द विनाश करवाता है। हम शब्द जीवन सफल कर देता है। राम की पूजा अर्चना करने से शिव की कृपा होती है। जीवन में स्वाभिमान से जरूर जीना पर कभी अभिमान से नही जीना।

यह बात बागेश्वर धाम सरकार प. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री ने कही। वे नौ दिनी रामकथा में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भगवान राम की शरण में आने से किसी के साथ अन्याय नहीं होता है, जो व्यक्ति अच्छा करता है वो हमेशा अच्छा रहता है, जो बुरा करता है उसके साथ भी बुरा ही होता है। जीवन में हमेशा अच्छे कर्म करे, अटूट विश्वास होना बहुत जरूरी है। हनुमान की आराधना से जीव का कल्याण होता है। जीवन में पूज्य बनना है तो विनम्र बनें। जीवन में सबकुछ रामजी ही है। सब करने वाले भी राम है और करवाने वाले भी राम है। जीवनभर रामजी से लग्न लग जाती है, जहां अति प्रेम होता है वहीं परमात्मा प्रकट होते है।

जीवन में दान और गरीब की मदद दिल खोलकर करना चाहिए। जिस पर गुरु की कृपा हो जाती है उसका जीवन सफल हो जाता है। जीवन में मस्ती हो तो भगवान के नाम की होनी चाहिए। आयोजन प्रमुख विधायक रमेश मेंदोला ने बताया कि नौ दिवसीय श्रीराम कथा के चौथे दिन भी हजारों भक्तो का कथा सुनने आए। इस मौके पर डाक्टरों की टीम द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। बीमारों का उपचार किया जाता है। तीनों पंडाल पूरे श्रद्धालुओं से भर गए। भक्त पंडाल के बाहर खड़े होकर भी कथा सुन रहे है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close