इंदौर ( नईदुनिया प्रतिनिधि), National E-conclave Indore। महिलाओं पर होने वाले अत्याचार पर लगे रोक इस विषय पर रविवार को राष्ट्रीय स्तरीय ई-कॉन्क्लेव का आयोजन हुआ। प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञों की राष्ट्रीय संस्था (एफओजीएसआई) द्वारा आयोजित इस ई-कॉन्क्लेव में पुलिस विभाग, स्कूल व कॉलेज, महिला एवं बाल विकास विभाग, एनजीओ, केंद्रीय सशस्त्र सुरक्षा बल (बीएसएफ) और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) सहित अन्य महिला संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए है। इस आयोजन की मुख्य अतिथि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन थी।

इंदौर की पूर्व सांसद ने कहा कि महिलाओं की सशक्त बनाने के लिए परिवार में और समाज में लिए जाने वाले निर्णयों में उनकी भी अहम भागीदारी होना चाहिए। वह चाहे गांव की मजदूर महिला हो या किसी परिवार की घरेलू महिला हो। समाज के कोई भी जरूरी निर्णय लेने से पहले महिलाअों से भी उनकी सलाह जरूर पूछी जाय। इस कॉन्क्लेव में एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल भी शामिल हुई। उन्होंने अपनी आपबीती बताई और कहा कि महिला के साथ जब भी अत्याचार होता है तो उसके मां-बाप उसके साथ जरूर खड़े होते हैं। कई बार बच्चे अपनी परेशानी मां-बाप को बताते है तो वो उसे मामूली बात मानकर नजरअंदाज कर देते है। आज हर पैरेंट्स को अपने बच्चों की बात ध्यान से सुनना चाहिए और उसके परेशानी को समझकर उस बारे में निर्णय लेना चाहिए।

इस कॉन्क्लेव में एफओजीएसआई संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अल्पेश गांधी और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. अर्चना बसेर भी शामिल हुई। इसके अलावा एमजीएम कॉलेज की महिला एवं प्रसूति विभाग की प्रोफेसर डॉ. सुमित्रा यादव भी शामिल थी।

Posted By: sameer.deshpande@naidunia.com

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस