इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Black Fungus in Indore। रविवार तक एमवाय अस्पताल में भर्ती ब्लैक फंगस संक्रमित मरीजों की संख्या 40 हो गई। मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण पांचवी मंजिल के तीसरे वार्ड को भी खोल दिया गया। एमवाय में ब्लैक फंगस संक्रमित मरीजों के लिए रविवार देर रात तक करीब 100 इंजेक्शन उपलब्ध हुए। नईदुनिया ने 16 मई को प्रमुखता से 'एंटी फंगल इंजेक्शन की कमी, एमवायएच में भर्ती 30 मरीज खतरे में' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद इंदौर से लेकर भोपाल तक आला अफसर सक्रिय हुए और रविवार को स्थानीय स्तर पर एंटी फंगल इंजेक्शन एमवाय अस्पताल को मिले। वहीं भोपाल से भी कुछ इंजेक्शन भेजे गए। एमजीएम मेडिकल कालेज के डीन डा. संजय दीक्षित के मुताबिक रविवार को स्थानीय स्तर पर हमें 100 इंजेक्शन मिले और देर रात तक भोपाल से भी इतने ही इंजेक्शन मिलने की उम्मीद है।

दवा बाजार में लगी कतारें

ब्लैक फंगस के उपचार में काम आने वाला एम्फोटेरिसिन बी इंजेक्शन बाजार में उपलब्ध नहीं है। इसलिए एंटी फंगल गोलियों के माध्यम से इलाज किया जा रहा है। पोसाकोनाजोल नोक्साफिल टेबलेट भी कारगर है। हालांकि इसकी एक गोली की कीमत ही 1100 से 1200 रुपये है। रविवार को दवा बाजार में क्वालिटी ड्रग हाउस के बाहर इन गोलियों को लेने के लिए सुबह 11 बजे से 1.30 बजे तक करीब 50 से ज्यादा लोगों की लाइन लगी। क्वालिटी ड्रग हाउस के संचालक मकरंद शर्मा के मुताबिक शनिवार को 1200 टेबलेट बिकी।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags