इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शिशु रोग विशेषज्ञों की संस्था इंदौर एकेडमी आफ पीडियाट्रिक्स, नेशनल नियोनेटोलाजी फोरम तथा इंडेक्स मेडिकल कालेज द्वारा संयुक्त रूप से विश्व स्तनपान सप्ताह के मौके पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इंडेक्स मेडिकल कालेज में हुए आयोजन में इंदौर एकेडमी आफ पीडियाट्रिक्स की उपाध्यक्ष डा. अनुराधा जैन ने गर्भवती तथा धात्री महिलाओं को स्तनपान से बच्चे तथा मां को होने वाले फायदों की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि बच्चे के जन्म के पश्चात शुरुआती छह माह की उम्र तक शिशु को केवल स्तनपान करवाना वैज्ञानिक रूप से सही है। ऐसा करने से बच्चे का शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक विकास भी बेहतर होता है। महिलाओं को गर्भावस्था से ही इसके लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए, जिससे वे बच्चे के जन्म के तुरंत बाद ही स्तनपान शुरू कर सकें। डा. प्रियंका जैन ने स्तनपान में आने वाली कठिनाइयों और गर्भवती व धात्री माताओं के प्रश्नों का समाधान किया। कार्यक्रम का संचालन डा. सौरभ पिपरसानिया ने किया। इस अवसर पर स्त्री रोग विभाग के ओर से डा. दीपिका वर्मा तथा डा. अंजलि ने भी स्तनपान से जुड़े अन्य मुद्दों पर चर्चा की। कार्यक्रम में स्तनपान विषय की थीम पर कार्यशाला व नाटक का भी मंचन किया गया।

माहेश्वरी समाज के शिविर में एकत्रित किया 75 यूनिट रक्त

अन्नपूर्णा क्षेत्र माहेश्वरी समाज और माहेश्वरी विद्यालय ट्रस्ट ने रक्तदान शिविर आयोजित किया। इसमें 75 यूनिट रक्त एकत्रित हुआ, जो एमवाय अस्पताल के बल्ड बैंक को प्रदान किया गया। समन्वयक ईश्वर बाहेती ने बताया कोविड के चलते अस्पतालों में रक्त की बेहद आवश्यकता है। आयोजन में अशोक डागा, मनीष बिसानी भी उपस्थित थे।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local