इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि । स्वास्थ्य अफसर उत्तम यादव से विवाद करने वाले पूर्व मंत्री जीतू पटवारी पर राजेंद्र नगर थाना पुलिस ने शुक्रवार को आपराधिक मामला दर्ज कर लिया। पटवारी पर जान से मारने की धमकी देने और शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज हुआ है।

राजेंद्र नगर थाना टीआइ अमृता सोलंकी के मुताबिक नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी डा. उत्तम यादव द्वारा लिखित एफआइआर दर्ज करवाई है। यादव ने पुलिस को बताया कि दो दिन पूर्व वह पालदा स्थित दुर्गानगर में साफ सफाई और दवाईयों का छिड़काव करने गए थे। उस वक्त जीतू पटवारी ने विवाद किया और दोनों के बीच कहासुनी हो गई थी।

यादव के दवाब में थाने ले लौट गए थे अफसर, भाजपा नेताओं के दबाव में लिखवाई रिपोर्ट

डाक्टर उत्तम यादव घटना के बाद निगम कर्मचारियों को लेकर थाने पहुंचे और केस दर्ज करवाने की मांग की। पुलिस ने लिखित आवेदन लेकर कायमी करने की प्रक्रिया भी शुरु कर दी। कुछ देर बाद यादव रिपोर्ट लिखवाने से पलट गए। उन्होंने लिखित में कहा कि कोई कार्रवाही नहीं चाहते है। भाजपा नेता उमेश शर्मा ने तत्काल एक ट्विट किया और कहा कि यादव कांग्रेस नेता अरुण यादव के रिश्तेदार है। यादव के इशारे पर ही उन्होंने कार्रवाई से इन्कार किया है। मामला आला अफसरों तक पहुंचा। निगम कर्मचारियों ने भी थाने में प्रदर्शन किया। शुक्रवार को यादव दोबारा थाने पहुंचे और जीतू पटवारी पर केस दर्ज करवा दिया। टीआइ के मुताबिक मामले की जांच की जाएगी।

दबाव के कारण तीन दिन बाद दर्ज की एफआइआर

उधर कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने जीतू पटवारी पर टि्वटर पर मप्र सरकार पर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। उन्होंने लिखा - पूर्व मंत्री,विधायक जीतू पटवारी जी के खिलाफ साधारण मामले में राजनैतिक, प्रशासनिक दबाव के तीन दिन बाद हुई एफआइआर सरकारी चरित्र के संदिग्ध होने का स्पष्ट प्रमाण! याद रहे भ्रष्टों-बेईमानों की फौज ने बर्रे के छत्ते में हाथ डाला है, कल भी आएगा?

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local