इंदौर। हम विभिन्न् क्षेत्रों में काम करते हैं। कई कंपनियां चलाते हैं। बिजी शेड्यूल रहता है, लेकिन जब देश के लोकतंत्र की बात होती है तो इसे मजबूत करने के लिए होने वाली कोशिशों में शामिल होते हैं। नईदुनिया के 'चलो वोट करें" अभियान के तहत आज हम शपथ लेते हैं कि कंपनी में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को मतदान के लिए वोट करने के लिए प्रेरित करेंगे। यह बात शुक्रवार को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (सीआईआई) की वर्कशॉप में हुई। 150 से ज्यादा बिजनेसमैन और विभिन्न कंपनियों में काम करने वाले अधिकारियों ने नईदुनिया के अभियान की सराहना करते हुए कहा कि आम लोगों को लगातार जागरूक करके मतदान को 100 फीसदी तक पहुंचाया जा सकता है।

'बात हमारी नोट करो, सबसे पहले वोट करो'

श्री चैतन्य मंडल के तत्वावधान में शुक्रवार शाम स्कीम नं. 71 स्थित औदुंबर निवास में काव्य गोष्ठी 'आओ वोट करें" का आयोजन किया गया। वरिष्ठ कवि सदाशिव कौतुक ने कहा कि देश को ये आजादी अनगिनत कुर्बानियों के बाद मिली है। हमें भारत मां पर हंसते-हंसते जान देने वाले उन अमर शहीदों का गुणगान करना चाहिए, जिनके बलिदानों के चलते हमें वोट डालकर अपना भविष्य तय करने का अधिकार मिला है। कुछ ऐसा ही आह्वान आशुकवि प्रदीप नवीन की लेखनी से भी उपजा। 'बात हमारी नोट करो, सबसे पहले वोट करो, प्रत्याशी को समझो-जानो, उसके इरादों को पहचानो, सबकी सुनो तुम सबकी जानो, पर अपने ही दिल की मानो, नारी-शक्ति भी आगे आओ, ना घूंघट की ओट करो, सबसे पहले वोट करो"। वरिष्ठ कवि हरेराम बाजपेई और युवा कवि मुकेश इंदौरी ने भी अपनी रचनाएं पेश की।

Posted By: Saurabh Mishra