रामकृष्ण मुले, इंदौर। नईदुनिया। देव शयनी एकादशी 20 जुलाई से श्रीहरि विष्णु शयन पर जाएंगे और 25 जुलाई से शिव आराधना का सावन मास में एक माह के लिए सृष्टि का काज भोले-भंडारी संभालेंगे। ध्यान-साधना और संतों के सानिध्य का पर्व चातुर्मास देवशयनी एकादशी से देव उठनी एकादशी 15 जुलाई तक रहेगा। इसबार पिछले साल के मुकाबले चातुर्मास 28 दिन छोटा 119 दिन का रहेगा। इस दौरान जहां मांगलिक कार्यों पर विराम लगेगा वही दूसरी ओर तीज-त्यौहारों का उल्लास छाएगा। अधिकांश प्रमुख त्यौहार मनाए जाएंगे।

ज्योर्तिविद् विजय अड़ीचवाल ने बताया कि चातुर्मास का समय भगवान विष्णु के शयनकाल का होता है। पुराणों के अनुसार इस दौरान विवाह सहित कई मांगलिक कार्य वर्जित रहते हैं। तपस्वी भ्रमण न करते हुए एक स्थान पर भी रहते हैं। देवशयनी एकादशी पर भगवान योगनिद्रा में जाते है जबकि देव उठनी ग्यारस पर भगवान निद्रा से जागते हैं। इस दौरान विवाह, उपनयन संस्कार, गृह प्रवेश सहित विभिन्न मांगलिक कार्य नहीं होते हैं। आचार्य शिवप्रसाद तिवारी के मुताबिक पिछले साल पिछले साल चातुर्मास पांच महीने के होने के कारण 147 दिन का था। इस दौरान दो अश्विन मास आए थेअधिक मास हर तीन साल में एकबार होता है।

कब होंगे कौन से तीज त्यौहार

-24 जुलाई को गुरु पूर्णिमा (वेद व्यास जयन्ती)।

- 8 अगस्त को अमावस्या (हरियाली अमावस्या)

-10 अगस्त को सिंजारा दूज

- 11 अगस्त को हरियाली तीज

- 13 अगस्त नाग पंचमी

- 22 अगस्त को रक्षाबंधन

-25 अगस्त को सातूड़ी तीज (माहेश्वरी समाज)

- 27 अगस्त को चन्द्र छठ

-30 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

- 31 अगस्त को गोगा नवमी

-3 सितम्बर को गोवत्स द्वादशी (बछ बारस)

- 9 सितम्बर को हरतालिका तीज

- 10 सितम्बर को पार्थिव गणेश स्थापना गणेश चतुर्थी

-11 सितम्बर को ऋषि पंचमी, जैन संवत्सरी पंचमी

-12 सितम्बर को हल छठ, बलराम जयन्ती

- 16 सितम्बर को तेजा दशमी

- 17 सितम्बर को डोल ग्यारस

-19 सितम्बर को अनन्त चतुर्दशी

-20 सितम्बर से श्राद्ध प्रारम्भ

-6 अक्टूबर को सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या

-7 अक्टूबर को शारदीय नवरात्र आरम्भ

- 13 अक्टूबर को दुर्गा अष्टमी

-14 अक्टूबर को महानवमी,

-15 अक्टूबर को विजयादशमी (दशहरा)

-20 अक्टूबर को शरद पूर्णिमा

-24 अक्टूबर को करवा चतुर्थी

-2 नवम्बर को धनवन्तरि जयन्ती (धनतेरस)

-3 नवम्बर को रूप चतुर्दशी

-4 नवम्बर को दीपावली पूजन

-5 नवम्बर को गोवर्धन पूजन, अन्नकूट महोत्सव

-6 नवम्बर को भाई दूज

-10 नवम्बर को सूर्य छठ (सूर्य जयन्ती)

-11 नवम्बर को गोपाष्टमी

- 15 नवम्बर को देवउठनी एकादशी

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags